Excuse me… कहीं छोड़ दूं आपको, ऐसा कहने वाले अब हर रोज मिलेंगे

बाइक टैक्सीआगरा। दुनिया के अजूबों में एक नाम ताजमहल का है। ये हमारे देश की ऐतिहासिक धरोहर भी है और सम्मान भी। इसे देखने देश-विदेश के लोग यहां आते रहते हैं। अगर आप यहां आएं और कोई बाइक सवार आपके सामने रुक कर आपसे पूछ ले कि मैं आपको कहा छोड़ दूं तो हैरत में मत पड़ियेगा। पर्यटन की तमाम संभावनाओं को देखते हुए परिवहन विभाग ने बाइक टैक्सी को हरी झंडी दिखा दी है।

बाइक टैक्सी को हरी झंडी  

बाइक टैक्सी से यहां आने वाले देशी-विदेशी पर्यटक सैरसपाटा कर सकेंगे। अभी तक टैक्सी का परमिट चार पहिया या तीन पहिया वाहनों को मिलता था। लेकिन अब मोटरसाइकिल भी टैक्सी के रूप में चलेंगी।

राज्य परिवहन सचिव ने यह आदेश संभागीय परिवहन विभाग को जारी किया है। शासन स्तर से इसके लिए परमिट जारी करने का आदेश दे दिया गया है।

ताजनगरी में दो पहिया वाहन टैक्सी से पर्यटकों का सफर आनंदमय होगा, क्योंकि दो पहिया वाहन जाम की स्थिति में आसानी से निकल सकते हैं।

वहीँ युवा, सरकार के इस कदम  को रोजगार की दिशा में अच्छा कदम बता रहे हैं। बाइक टैक्सी पर परमिट धारक का नाम, पता व फोन नंबर वाहन पर लिखा होगा।

वाहन का रंग कन्ट्रास्ट होगा, बाइक चालक के आचरण एवं स्थायी पते का सत्यापन होगा। वाहन में हमेशा फस्ट-एड बॉक्स होगा। परमिट हस्तांतरणीय नहीं होगा।

असमान्य परिस्थितियों को छोड़कर वाहन को किराये पर मांगे जाने पर अस्वीकार नहीं किया जाएगा। वाहन मालिक के पास पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान होना चाहिए।

बता दें बस अड्डे पर इस टैक्सी की पार्किंग नहीं होगी। बाइक टैक्सी में शिकायत पुस्तिका भी होगी, जो यात्रियों को उपलब्ध करानी होगी।

दो वर्ष पुराने वाले वाहन को परमिट जारी नहीं किया जाएगा। नए वाहनों को ही लाभ मिलेगा।

वाहन चालक और यात्री दोनों के लिए हेलमेट अनिवार्य होगा। ऐआरटीओ प्रशासन नेहा द्विवेदी ने बताया शासनादेश आ चुका है।

बाइक टैक्सी के लिए परमिट जारी करने की कवायद शुरू कर दी गई है। आवेदन करने पर लोगों को यह परमिट जारी होगा। लेकिन इसके लिए चालाक को सभी शर्तों का पालन करना जरूरी होगा।

=>
LIVE TV