बढ़ते कोहरे के कारण दिल्ली-हावड़ा रूट की लगभग सभी ट्रेनें लेट

कानपुर।  पिछले तीन दिनों से पड़ रहे कोहरे की वजह से दिल्ली-हावड़ा रूट की ट्रेनों पर नियमित असर पड़ रहा है। सोमवार को भी कानपुर से गुजरने वाली 90 से अधिक ट्रेनें अपने निर्धारित समय से देरी पर सेंट्रल पहुंचीं। सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस जहां नौ घंटे की देरी से चल रही है।

दिल्ली-हावड़ा रूट

वहीं कानपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली रिवर्स शताब्दी सुबह छह बजे के बजाय सुबह आठ बजे सेंट्रल से रवाना हुई। जबकि दिल्ली से यह ट्रेन शाम 3:50 बजे से एक घंटे की देरी से छूटी। ट्रेनों के लेट होने से 1100 से अधिक यात्रियों ने टिकट निरस्त कराए। इसमें 445 टिकट विंडो से निरस्त कराए गए।

ट्रेनों की लेटलतीफी का सबसे ज्यादा खामियाजा नौकरीपेशा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। समय से ड्यूटी पर न पहुंच पाने से दिक्कतें हो रही हैं। जबकि अन्य यात्री भी अपने जरूरी कामों को निपटाने के लिए समय से नहीं पहुंच रहे हैं। दिल्ली-हावड़ा रूट से रोजाना पौने चार सौ ट्रेनें गुजर रही हैं।

तालिबान ने अफगानिस्तान के लिए एक नए संविधान की मांग, काबुल सरकार का संविधान अवैध

अगर कोहरा इसी तरह पड़ता रहा तो लंबी दूरी की ट्रेनों की रफ्तार पर इसका असर पड़ेगा और लेट होने वाली ट्रेनों की संख्या बढ़ जाएगी। ट्रेनों के लेट होने से वेटिंग हॉल और प्लेटफार्मों पर लगी कुर्सियों पर यात्रियों का जमावड़ा रहा।

सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस नौ घंटे, आनंद विहार-इलाहाबाद कुंभ स्पेशल (04118) छह घंटे, आनंद विहार-जोगबनी सीमांचल एक्सप्रेस सात घंटे, हावड़ा-दूरंतो एक्सप्रेस दो घंटे, गोरखपुर-यशवंतपुर एक्सप्रेस तीन घंटे, दिल्ली-कटिहार चंपारण हमसफर एक्सप्रेस ढाई घंटे, मंडुआडीह-आनंद विहार तीन घंटे, आनंद विहार-सतरंगाची और ऊंचाहार एक्सप्रेस चार घंटे लेट रही।

=>
LIVE TV