पीएम को क्या संदेश देना चाहते हैं राज ठाकरे, खास पारिवारिक कार्यक्रम में राहुल को बुलाया मोदी को नहीं

नई दिल्ली। केंद्र की बीजेपी सरकार और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के रिस्तों में इन दिनों कुछ खटास देखी जा रही है। इस बात को और राज ठाकरे के बेटे की शादी में आने के लिए मोदी को न्योता न दिए जाने से और बल मिलता है।

राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे की शादी मिताली से मुंबई में 27 जनवरी को होने जा रही है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, इस शादी में शामिल होने के लिए राज ठाकरे ने पीएम नरेंद्र मोदी को निमंत्रम नहीं भेजा है जबकि उन्होंने राहुल गांधी को इस शादी में शरीक होने के लिए आमंत्रण भेजा है।

राज ठाकरे ने कांग्रेस से राहुल गांधी के अलावा सुशील कुमार शिंदे, पृथ्वीराज चव्हाण और मिलिंद देवरा को आमंत्रित किया है। वहीं एनसीपी से उन्होंने अजित पवार, सुनील ठाकरे, जयंत पाटिल,छगन भुजबल और धनंजय मुंडे को भी निमंत्रण पत्र भेजा है।

इसके अलावा राज ठाकरे द्वारा व्यक्तिगत तौर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस को निमंत्रण दिए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही हैं। वहीं ठाकरे व्यकितगत रूप से एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी मिलकर शादी में आने का अनुरोध कर सकते हैं।

बेटे की शादी को लेकर राज ठाकरे का कहना है कि यह शादी बहुत ही साधारण तरीके से होग, जिसमें परिवार के करीबी लोग और कुछ मेहमान होंगे। हालांकि इस शादी में देश की कई नामचीन हस्तियों के शामिल होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक कांग्रेस ने मनसे के साथ किसी भी तरह के राजनीतिक तालमेल से इनकार किया है। उसका कहना है कि राहुल गांधी को निमंत्रण देने के पीछे कोई भी राजनीतिक मंशा नहीं है। ठाकरे के सक्रेटरिज सिर्फ निमंत्रण देने आए हुए थे।

शाकाहारी मगरमच्छ गंगाराम की मौत पर रोया पूरा गांव, निकाली अंतिम यात्रा

खबरों के मुताबिक राज ठाकरे खुद दिल्ली में राहुल गांधी से मिलने वाले थे। लेकिन, उन्होंने बाद में अपनी जगह अपने दो सचिवों हर्षल देशपांडे और मनोज हेते को भेजकर राहुल को आमंत्रित किया।

=>
LIVE TV