पति रहे गृह मंत्री पर घर में रही कमला की हुकूमत

kamla-abvani-modi-57051a1ecf155_lएजेन्सी/भारतीय राजनीति के भीष्म पितामह कहे जाने वाले और देश के उप-प्रधानमंत्री रहे लाल कृष्ण आडवाणी की पत्नी कमला आडवाणी का बुधवार को हार्ट अटैक के कारण निधन हो गया। 25 फरवरी को 1965 को आडवाणी ने कमला को अर्धांगिनी के रूप में स्वीकार किया। कमला और लाल कृष्ण आडवाणी के दो बच्चे जयंत और प्रतिभा है। 

पति देश के और पत्नी घर की गृह मंत्री

कहा जाता है कि आडवाणी बहुत लकी रहे। उनकी पत्नी कमला आडवाणी का राजनीति से रिश्ता नहीं होने के बावजूद भी वह हमेशा उनके साथ खड़ी रही। वह आडवाणी के खानपान से लेकर उनसे मिलने वालों की लिस्ट पर भी नजर रखती थीं। यहां तक कि आडवाणी की सेहत का राज भी उनके ही हाथ में रहता था। इस बात का इजहार खुद आडवाणी ने गृह मंत्री रहते हुए किय था। एनडीए सरकार के दौरान मजाक में आडवानी कहते थे, ‘मैं जरूर देश का गृह मंत्री हूं लेकिन मेरे घर में कमला ही गृह मंत्री है।’

17 साल तक जीपीओ में की नौकरी

लालकृष्ण आडवाणी और कमला दोनों का परिवार भारत के विभाजन के बाद कराची से विस्थापित होकर भारत आया था। उस संघर्ष के समय में भी उन्होंने बड़े धैर्य के साथ अपनी जिम्मेदारियां निभाई। उन्होंने लगभग 17 वर्षों तक दिल्ली तथा मुम्बई के जनरल पोस्ट ऑफिस में कार्य किया।

आडवाणी का परिवार

25 फरवरी 1965 को लाल कृष्ण आडवाणी और कमला आडवाणी का विवाह हुआ था। उनकी दोनों संताने जयंत और प्रतिभा आडवाणी है। आडवाणी परिवार की दोनों संताने जयंत और प्रतिभा पर मां कमला का ज्यादा प्रभाव था। उसकी वजह है कि जब आडवानी रेल और जेल में अपना राजनीतिक सफर पूरा कर रहे थे तब कमला ही घर और बच्चों को संभालती थीं। हालांकि बेटी प्रतिभा का झुकाव पिता की तरफ भी खासा है लेकिन पुत्र जयंत मां के ज्यादा लाडले हैं। 

=>
LIVE TV