Friday , August 18 2017

अखिलेश ने किया पतंजलि हर्बल फूड पार्क का शिलान्यास, रामदेव ने बांधे तारीफों के पुल

पतंजलि हर्बल फूड पार्कलखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में स्थापित किए जा रहे पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क का आज लखनऊ के लोकभवन से शिलान्यास किया। इस दौरान उनके साथ योगगुरू बाबा रामदेव भी मौजूद रहे।

पतंजलि हर्बल फूड पार्क का हुआ शिलान्यास

इस अवसर पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बाबा रामदेव की तारीफ करते हुए कहा कि बाबा ने पतंजलि के माध्य‍म से पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। देश में योग को सबसे ज्यादा बढ़ावा बाबा ने ही दिया है। योग आने से व्याक्ति अनुशासन में रहता है। उन्होंने कहा कि बाबा के आने से आर्शीवाद मिल गया है, लेकिन असली आर्शीवाद जनता से मिलेगा यह उम्मीद है और सपा दोबारा यूपी में सरकार बनाएगी।

उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेस वे प्रदेश को दिया है। उन्होंने बाबा रामदेव को धन्यवाद बोलते हुए कहा कि किसानो को लाभ देने वाले काम का पार्टी हमेशा स्वागत करती है। उन्होंने बताया कि कल से लखनऊ के लोगो के लिए मेट्रो सेवा का ट्रायल भी शुरू हो जाएगा।

मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी का नाम लिए बिना उन पर प्रहार करते हुए कहा कि कुछ लोगो ने अर्थव्यमवस्था  को उलझा दिया है। पैसा काला या सफेद नही होता, हमारा-आपका लेन देन काला या सफेद होता है।

इस दौरान बाबा रामदेव ने सीएम अखिलेश यादव की बड़ाई करते हुए कहा कि अखिलेश सबसे बड़े प्रदेश के सीएम है| लेकिन कभी उन्हों ने राजनीति में ओछे शब्दो का प्रयोग कभी नही किया है।

मालूम हो कि, 455 एकड़ क्षेत्र में स्थापित किए जा रहे इस पार्क से प्रदेश में 1600 करोड़ रुपये का निवेश होगा। इसके कार्यशील होने के बाद 8,000 लोगों को सीधे तौर पर रोजगार मिलेगा, जबकि लगभग 80,000 लोगों को परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।

इस पार्क के अंतर्गत कृषि आधारित उत्पादों, खाद्य उत्पाद, हर्बल उत्पाद, पशु आहार दुग्ध उत्पाद एवं औषधीय उत्पाद की इकाइयां तथा रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना की जाएगी।

पार्क में स्थापित की गई खाद्य प्रसंस्करण इकाई प्रतिदिन 400 टन फल एवं सब्जियों का प्रसंस्करण करेगी, जबकि इसमें जैविक गेहूं का इस्तेमाल करते हुए प्रतिदिन 750 टन आटा भी तैयार किया जाएगा। इस पार्क की स्थापना से इस क्षेत्र की ऊसर एवं कम उपजाऊ जमीनों में ज्वार, बाजरा एवं मोटे अनाजों के उत्पादन को भी बढ़ावा मिलेगा, जिससे किसानों की सकल आय में वृद्धि होगी।

LIVE TV