नॉर्मल डिलीवरी के बाद बरतें ये सावधानियां, नहीं तो हो सकता है जान का खतरा!

मां बनना किसी भी महिला की लाइफ का सबसे महत्वपूर्ण पल है। इस खुशी को महिलाएं शब्दों में बयां नही कर सकती हैं। लेकिन इस खुशी के लिए माओं को काफी दर्द सहना पड़ता है। महिलाएं दो तरीके से बच्चों को जन्म देती हैं, पहला नार्मल डिलीवरी और दूसरा सिजेरियन। नॉर्मल डिलीवरी के बाद महिलाओं को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। ऐसे में कई बार खुद पर ध्यान न देने की वजह से हम अपने शरीर को काफी नुकसान पहुंचा देते हैं। इस तरह की गलतियों से न सिर्फ आपके स्वास्थ बल्कि शिशु के स्वास्थ पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। जितना हो सके नार्मल डिलीवरी के बाद इन गलतियों को करने से बचे…

नॉर्मल डिलीवरी

आराम बेहद जरुरी

अक्सर घरेलू महिलाएं डिलीवरी के कुछ दिनों बाद ही घर के काम-काज में जुट जाती हैं। इससे टांको पर जोर पड़ने लगता है और महिलाओं को काफी दर्द होने लगता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप आराम करें। इससे शरीर रिलैक्स होगा और टेंशन कम करने में भी मदद मिलेगी।

इंफेक्शन होने पर न करें लापरवाही

नॉर्मल डिलिवरी के बाद इंफेक्शन होने का खतरा भी काफी बढ़ जाता है। शरीर के किसी भी हिस्से में ऐसी समस्या आने लगे तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। आपकी जरा सी लापरवाही आपके शरीर पर बुरा असर डाल सकती है।

सुबह की शुरुआत हो चना दाल कटलेट के साथ तो बन जाए बात

भारी सामान न उठाएं

डिलीवरी के बाद महिलाओं को सामान्य होने में 6 महीने का समय लग जाता है। इस बीच कई बार महिलाएं भारी सामाना उठाना और सीढ़ियों पर बार-बार उतरना चढ़ना करती हैं, जिससे ब्लीडिंग जैसी समस्याएं होने लगती हैं। ऐसे में पहले खुद का ख्याल रखें और उसके बाद किसी काम के बारे में सोचें।

ये खाना करें एवॉइड

डिलिवरी के तुरंत बाद तला या भुना खाना शुरू कर देना आपकी सेहत के लिए बेहद हानिकारक होता है। ऐसे समय में जितना हो सके इन चीजों को खाने से बचें। इससे रिकवरी में समस्या होती है। कई बार तो मां के फास्ट फूड या मसालेदार खाना खाने से शिशु को भी तकलीफ होने लगती है। इसलिए बेहतर होगा कि इसकी अनदेखी करें।

=>
LIVE TV