धोनी के धुरंधरों होश में आओ, सामने है ऑस्ट्रेलिया, गलती मत दोहराओ

Captureएजेन्सी/नई दिल्ली। आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच ग्रुप-2 का आखिरी मुकाबला क्वार्टरफाइनल जैसा हो गया है। दोनों टीमों के 4-4 अंक है हालांकि रन रेट के लिहाज से ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा टीम इंडिया पर भारी है। 

आइए हम आपको उन पहलुओं से रूबरू कराते हैं, जिसके जरिए टीम इंडिया स्टीवन स्मिथ की अगुआई वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को सिकस्त देकर सेमीफाइनल में पहुंच सकती है। 

शीर्ष और मध्यक्रम बैटिंगः 

बांग्लादेश पर 1 रनों से जीत के बाद भारतीय कप्तान एमएस धोनी बुधवार को रन रेट में सुधार नहीं कर पाने पर निराशा जाहिर की थी। चूकिं ऑस्ट्रेलिया से हारकर पाकिस्तान वर्ल्ड कप से बाहर हो चुका है और अब कंगारू टीम का सामना 26 मार्च को मोहाली में टीम इंडिया होगा। ऐसे यदि बारिश के कारण यह मैच नहीं हो पाता है तो रन रेट के लिहाज से दूसरे नंबर पर काबिज ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा। 

रन रेन में पिछड़ने की वजह विराट कोहली को छोड़कर शीर्ष क्रम और मध्यक्रम के बल्लेबाजों ने अपेक्षानुरुप अब तक बेहतर खेल नही दिखाना रहा है। टूर्नामेंट में सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शिखर धवन के बाद युवराज सिंह और सुरेश रैना भी तेजी से रन जुटाते नजर नहीं आए। 

बांग्लादेश के खिलाफ 14वें ओवर में विराट कोहली के 95 रनों के स्कोर पर आउट होने के बाद तो टीम इंडिया ने 38 गेंदों का सामना किया और 51 रन बनाने के साथ ही 6 विकेट गंवा दिए। अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन पिछले मुकाबलों की तरह ही रहा तो धोनी की धुरंधरों की जीत मुश्किल है। 

 

क्षेत्ररक्षणः 

बांग्लादेश के खिलाफ टीम इंडिया का क्षेत्ररक्षण काफी खराब रहा। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि भारतीय खिलाड़ियों ने चार कैच छोड़े, मिस फिल्डिंग और ओवर थ्रो किए। मोहाली बड़ा मैदान है और भारतीय खिलाड़ियों की खराब फिल्डिंग का फायदा ऑस्ट्रेलियाई टीम उठा सकती है। 

5वां गेंदबाजः 

मोहाली में हुए अब तक न्यूजीलैंड vs पाकिस्तान और पाकिस्तान vs ऑस्ट्रेलिया पर के मुकाबलों पर नजर डाले तो पता चलता है कि पिच बैटिंग के लिए उपयुक्त है। ऐसे में भारतीय टीम के लिए 5वां गेंदबाज बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है। 

हालाकि यह सही है कि हार्दिक पांड्या ने बांग्लादेश के खिलाफ दो विकटे चटकाए है लेकिन इसकी कीमत उन्होंने 3 ओवर में 9.67 की इकॉनमी से 29 लुटाकर पूरी की है। 

वहीं पाकिस्तान के खिलाफ भी उन्होंने 2 ओवर में 25 रन लुटाए और 1 विकेट चटकाए। पिछले दो मुकाबलों में मोहली के पिच के मिजाजा को देखते हुए धोनी को सुरेश रैना और हार्दिक पांड्या को 5वें गेंदबाज के तौर पर बेहतर तरीके से इस्तेमाल की जरूरत है। 

टॉस निभाएगा महत्वपूर्ण भूमिकाः

मोहली की पिच पर धोनी के लिए टॉस जीतकर बैटिंग करना फायदेमंद साबित हो सकता है। मोहाली के पीसीए स्टेडियम में अब तक यह कारगर साबित हुआ है। यहां टूर्नामेंट में अब तक खेले गए दोनों मुकाबलों में पहले बैटिंग करने वाली टीम को जीत मिली है। पहले बैटिंग करते हुए न्यूज़ीलैंड ने पाकिस्तान को 22 रनों से हराया, तो ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 21 रनों से हराया।

टी-20 में रिकॉर्डः

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच 12 मैच खेले गए हैं, जिनमें से 8 में टीम इंडिया और 4 में ऑस्ट्रेलिया ने जीत दर्ज की है। इतना ही नहीं पिछले 5 मुकाबलों में टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलियाई टीम हरा नहीं सकी है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया पर टीम इंडिया का पलड़ा भारी दिख रहा है। 

=>
LIVE TV