दो गवाहों ने यूं किया बयां विकास दुबे के एनकाउंटर से पहले का आंखों देखा हाल

बिकरू कांड के मुख्य आरोपित विकास दुबे के एनकाउंटर के मामले में दो चश्मदीद गवाह भी हैं। न्यायिक आयोग के दौरे के बाद यह नया तथ्य सामने आया था, दोनों चश्मदीदों ने आंखों देखा हाल देखने का दावा किया है। वहीं पुलिस ने बिकरू कांड के चार आरोपितों ने रिमांड के दौरान हथियार बरामद कराए हैं।

इन्होंने देखा था विकास दुबे का एनकाउंटर

सचेंडी कस्बा निवासी दुर्गेश सिंह भदौरिया ने बताया कि वह शुगर के मरीज हैं। रोज की तरह नौ जुलाई की सुबह करीब 5:30 बजे वह घर से टहलने के लिए निकले थे। तभी अचानक तेज बारिश शुरू हो गई। बारिश से बचने के लिए वह पास में स्थित श्री यार्ड के पास खड़े हो गए। इसी दौरान वहां से गुजर रही एक गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई। उन्होंने देखा कि एक लंबा चौड़ा व्यक्ति गाड़ी के पिछले दरवाजे से हाथ में पिस्टल लेकर बाहर निकलता है और हाईवे के बाई ओर कच्ची पगडंडी पर भागा।

दुर्गेश के मुताबिक कुछ दूर तक विकास उल्टा दौड़ा, ताकि पीछा कर रहे पुलिस वालों को देखकर गोलियां दाग सके। इस बीच उन्होंने दो राउंड गोलियों की आवाज भी सुनी। जिसे सुनते ही वह घबराकर घर लौट आए। वहीं दूसरे चश्मदीद कटरा घनश्यामपुर निवासी प्रदीप सिंह ने बताया कि जानवरों का झुंड हाईवे पर आने से गाड़ी अनियंत्रित होकर पलटी थी। गाड़ी के डिवाइडर या किसी अन्य जगह से टकराना उन्होंने नहीं देखा।

पुलिस ने एक रायफल, एक दोनाली बंदूक, दो तमंचे बरामद किए

बिकरू कांड के चार आरोपितों ने रिमांड के दौरान हथियार बरामद कराए हैं। एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस ने बिकरू कांड में जेल भेजे गए शिवम दुबे, गोविंद सैनी, धर्मेंद्र उर्फ हीरू और जिलेदार ङ्क्षसह को अदालत से पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिया था। पूछताछ के बाद अलग-अलग चार टीमें बनाकर आरोपितों को लेकर पुलिस बिकरू के आसपास स्थित जंगलों में गई, जहां हथियार छिपाए गए थे। एसपी ग्रामीण के मुताबिक, पुलिस टीमों ने जिलेदार की निशानदेही पर 315 बोर की एक हैंडमेड रायफल, एक जिंदा कारतूस, छह खोखे और 312 बोर के 12 खोखे बरामद किए।

हीरू की निशानदेही पर उसके पिता के नाम पर जारी लाइसेंसी दोनाली बंदूक बरामद की। साथ में विभिन्न बोर के छह कारतूस व 17 खोखे बरामद किए हैं। वहीं, गोविंद सैनी व शिवम दुबे ने एक-एक तमंचा बरामद कराया। इनके ठिकानों से भी पुलिस ने कारतूस व खोखे बरामद किए हैं। सभी के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि शिवम के खिलाफ तीन, गोविंद सैनी के खिलाफ एक, हीरू के खिलाफ दो और जिलेदार के खिलाफ छह मुकदमे दर्ज हैं।

=>
LIVE TV