दिल्ली वासियों के लिए गुड न्यूज, यमुना नदी पर बनने जा रहा विशाल ब्रिज, पढ़े पूरी खबर

दिल्ली वासियों के लिए गुड न्यूज है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने यमुना नदी पर 5वें मेट्रो ब्रिज का शुरूआती निर्माण काम प्रारंभ कर दिया है. इन ब्रिज का निर्माण दिल्ली मेट्रो के फेज-4 के मुताबिक किया जा रहा है. विशेष बात यह है कि ये पुल मजलिस पार्क -मौजपुर कॉरिडोर पर आ रहा है. इस पुल के बनने से मेट्रो यातायात की सुविधाएं सुगम और अधिक सरल हो जाएंगी. यह पुल 560 मीटर लंबा होगा. वहीं, वर्तमान में यमुना नदी पर दिल्ली मेट्रो के 4 ब्रिज हैं.

बता दें कि इस ब्रिज की ऊंचाई सिग्नेचर पुल और वजीराबाद ब्रिज के मध्य की होगी. इससे तीनों ब्रिजों के मध्य मेट्रो के झूलने का आभास यात्रियों को होगा. दिल्ली मेट्रो रेल कोरपोरेशन को बीते माह नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने ब्रिज के निर्माण की मंजूरी दी थी. ट्रिब्यूनल ने पुल के निर्माण में पर्यावरण संरक्षण के लिए जरूरी मानकों का पूरी तरह पालन करने के निर्देश दिए थे. पथरीली जमीन होने की वजह से पुल के निर्माण में पाइलिंग प्रक्रिया को अपनाया जा रहा है. साथ ही तकनीकी के अनुसार कई नए प्रयोग किए जाएंगे, ताकि 560 मीटर लंबे इस ब्रिज में आठ स्पैन, नौ पिलर से पुल निर्माण को नया रूप दिया जा सके.

स्वाधीनता दिवस से एक दिन पहले न्यूज आई थी, कि दिल्ली मेट्रो के फेज-4 के तहत तुगलकाबाद-एरोसिटी मेट्रो कॉरिडोर का निर्माण काम प्रारंभ हो गया है. जानकारी के अनुसार, तुगलकाबाद- एरोसिटी मेट्रो कॉरिडोर में 15 मेट्रो स्टेशन होंगे. इसके लिए दिल्ली मेट्रो ने संगम विहार से साकेत-जी तक चार एलिवेटेड मेट्रो स्टेशनों का निर्माण करने के लिए निर्माण कार्य का अनुबंध किया है. इसके तहत संगम विहार, खानपुर-देवली, अंबेडकर नगर और साकेत-जी मेट्रो स्टेशन का निर्माण होगा. ये सभी स्टेशन एलिवेटेड होंगे.

=>
LIVE TV