दाल-प्याज की अब नहीं होगी कमी, सरकार का मास्टरप्लान एक्टिव

नई दिल्ली। खाद्य और उपभोक्ता मामलों का मंत्रालय दाल और प्याज का बफर स्टॉक तैयार कर रहा है और इनके समयबद्ध आयात के लिए कदम उठा रहा है।

दाल और प्याज

आधिकारिक सूत्रों ने यहां सोमवार को बताया कि दालों के मूल्य नियंत्रित करने के लिए केंद्र सरकार ने बफर स्टॉक से बड़ी मात्रा में तूर और उड़द दाल जारी किए हैं, जिसे दिल्ली, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु में 120 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर बेचा जाएगा।

दाल और प्याज के बढ़ते दाम

सरकार ने घरेलू खरीदारी से 50 हजार टन का बफर स्टॉक तैयार किया है। सरकार एक लाख टन चना और मसूर दाल की भी खरीदी कर सकती है। सूखा पड़ने और कम बारिश होने के कारण उपज कम होने से दालों की कीमतें आसमान छू रही हैं।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में केंद्रीय भंडार और मदर डेयरी की रिटेल श्रंखला सफल को अपनी दुकानों से रियायती दर पर तूर और उड़द दाल बेचने की सलाह दी गई है।

सूत्रों के मुतााबिक, केंद्र ने वर्तमान वित्त वर्ष में 26 हजार टन तूर और उड़द दालों के आयात के लिए ठेका दिया है।सार्वजनिक कंपनी मेटल्स एंड मिनरल्स ट्रेडिंग कॉरपोरेशन के जरिए भी आयात शुरू किया गया है। सूत्रों ने बताया कि सरकार ने इस साल सीधे किसानों से 2,300 टन प्याज की खरीदी की है।