त्योहार मनाने मे अहम भूमिका निभाते है लोहार चाहे हिन्दू हो या मुस्लिम

एजेंसी/download (36)नंदकिशोर विश्वकर्मा जो कि कोयला राजधानी धनबाद के झरिया गाँव के निवासी है, उनके द्वारा बनाये गए हथियारो द्वारा हिन्दू हो या मुस्लिम दोनो समुदाय के लोग अपना त्योहार मनाते है. मुहर्रम के मौके पर मुस्लिम समुदाय के युवा इन्ही के बनाये गए जंजीर और अन्य हथियारो द्वारा करतब दिखाते है. वही रामनवमी पर धनबाद के लोग नंदकिशोर विश्वकर्माजी के द्वारा बनाये गए भालो और तलवारो के द्वारा अखाड़े मे प्रदर्शन करते है.

नंदकिशोरजी पिछले 20 वर्षो से यह कार्य करते आ रहे है, उन्होने सन 1996 से अपनी आजीविका चलाने के लिए यह कार्य आरंभ किया था. तब से लेकर आज तक हिन्दू तथा मुस्लिम दोनो समुदाय के लोग नंदकिशोर विश्वकर्माजी से हथियार खरीदकर त्योहार मनाते है.

धनबाद से लेकर राँची जो कि झारखंड की राजधानी है, वहाँ भी इनके द्वारा बनाये गए हथियारो को खरीदा जा रहा है. राँची मे इनके द्वारा बनाये गए हथियारो मे तलवार, भाला, फरसा, गदा व त्रिशूल की माँग ज्यादा है. नंदकिशोरजी एक अच्छे कारीगर है. इन हथियारो को बनाकर वे अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे है. वे अपने छोटे बेटे को अच्छी शिक्षा दे रहे है और उनका बड़ा बेटा दिल्ली मे नौकरी कर रहा है.

=>
LIVE TV