जमीन को लेकर बड़ी बहनो ने छोटी सगी बहन को किया आग के हवाले, ईलाज के दौरान हुई मौत

imagesमऊ: थाना रानीपुर अन्तर्गत चितविसाव निवासी स्व0 करिया सिंह की तीन पुत्रियां अकेली मां की देख भाल करती चली आ रही भी जिसमें बड़ी पुत्री कलावती देवी पत्नि उदयनरायन सिंह जिसकी ससुराल रूदरी थाना -रानी की सराय जनपद- आजमगढ़ व लीलावती देवी पत्नि विजय प्रताप सिंह की ससुराल मझगांवा थाना – रानी की सराय जनपद – आजमगढ़ व छोटी पुत्री निर्मला देवी पत्नि अशोक सिंह की ससुराल पवईकला थाना -मेहनगर जनपद – आजमगढ़ है ।
मां की बुढ़ापा को देखते हुए निर्मला देवी अपने मायके चितिवसाव मे रहकर अपनी मां चन्द्रावती देवी की देख-रेख करती थी जिसके चलते चन्द्रवती देवी ने 3.5 बीघे की जमीन निर्मला के नाम से रजिस्टरी कर दी थी और जमीन खारिज दाखिल भी हो चुकी है यही निर्मला की बड़ी बहनो को देखा नही जा रहा था और दोनों बड़ी बहनें भी मायके में ही रहकर अपनी छोटी बहन निर्मला को प्रताड़ित करती थी और अन्त में 3 अप्रैल 2016 को दोनों बड़ी बहनें कलावती व लीलावती ने अपनी सगी छोटी बहन निर्मला के ऊपर केरोसिन का तेल डालकर जला दिया और जब निर्मला जलने और चिल्लाने लगी तो किसी तरह ग्रामीणों ने निर्मला के शरीर में लगी आग को बुझाने में कामयाब हो गये और निर्मला को जिला अस्पताल आजमगढ़ में भर्ती कराया जहा ईलाज के दौरान निर्मला की 9 अप्रैल 2016 को दिन में 12 बजे मौत हो गयी पीएम के बाद निर्मला का पति अशोक सिंह, निर्मला के शव को लेकर चितविसाव गांव थाना रानीपुर पर 10 अप्रैल को 3:30 बजे लाया और थाना रानीपुर थाने में तहरीर दी ।इस मामले को थानाध्यक्ष अशोक कुमार सरोज गंभीरता से लेते हुए निर्मला देवी के दोनों बहनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और जांच के उपरान्त सही पाये जाने उनकी दोनों बहनों की गिरफ्तारी की बात कही।

=>
LIVE TV