Sunday , April 23 2017

जन धन खातों में नोटबंदी के बाद रकम जमा करने में पहले नंबर पर यूपी

जन धन खातों मेंनई दिल्ली। जन धन खातों में जमा रकम बढ़कर 64250.15 करोड़ रुपए हो गई है। देशभर में 10670.62 करोड़ रुपए जमा करने के साथ उत्तर प्रदेश इसमें अव्वल है। पश्चिम बंगाल और राजस्थान क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर है।

वहीं देश में 23% जन धन अकाउंट्स ऐसे भी हैं जिनमें जीरो बैलेंस है। सरकार की ओर से यह जानकारी लोकसभा में शुक्रवार को एक प्रश्न पूछने पर दी गई। देशभर में जनधन खातों की संख्‍या 25.58 करोड़ हैं ।

मालूम हो कि प्रधानमंत्री जन धन योजना 28 अगस्त 2014 को लॉन्च की गई थी। इसके तहत देशभर में 25.58 करोड़ जन धन अकाउंट्स खोले गए हैं।

स्टेट मिनिस्टर फाइनेंस संतोष कुमार गंगवार ने लोकसभा में लिखित जवाब में कहा कि, इन खातों में 16 नवंबर 2016 तक कुल 64250.15 करोड़ रुपए जमा हो चुके हैं।

यूपी में 3.79 करोड़ जन धन खाते

देशभर में अव्‍वल रहें उत्तर प्रदेश में 3.79 करोड़ जन धन अकाउंट्स हैं। इनमें सबसे ज्यादा 10670.62 करोड़ रुपए जमा हुए हैं।

वहीँ, इस मामले में पश्चिम बंगाल दूसरे नंबर पर है। यहां 2.44 करोड़ अकाउंट्स हैं, जिनमें 7,826.44 करोड़ रुपया जमा हुआ है। 1.89 करोड़ एकाउंट्स के साथ राजस्थान तीसरे नंबर पर है। यहां 5,345.7 करोड़ रुपए जमा हुए हैं।

बिहार में 2.62 करोड़ एकाउंट्स हैं। 16 नवंबर 2016 तक इनें 4,912.79 करोड़ रुपए की राशि जमा की गई है।

23% अकाउंट्स में अभी भी जीरो बैलेंस

जन धन योजना के 25.58 करोड़ अकाउंट्स में से 5.98 करोड़ (23.02%) ऐसे हैं, जिनमें अभी भी जीरो बैलेंस है।

केंन्द्र सरकार ने कहा है कि किसी भी पब्लिक सेक्टर के बैंक को यह नहीं कहा गया है कि वे जन धन अकाउंट्स में जीरो बैलेंस खत्म करने के लिए 1-2 रुपए जमा करवाएं।

 औसतन 30 गुना बढ़ा आकड़ा

देशभर के जन धन खातों में नोटबंद के बाद 9 नवंबर 2016 तक 45636.61 करोड़ रुपए थे। इसमें पिछले 14 दिनों में 21000 करोड़ रुपए जमा हुए हैं। जन धन खातों में इस साल 31 मार्च से 9 नवंबर तक रोजाना एवरेज 311 करोड़ रुपए जमा हो रहे थे। पिछले दो हफ्ते में यह एवरेज बढ़कर 10,500 करोड़ रुपए हो गया। यानी इसमें दो हफ्ते में 30 गुना से ज्यादा का इजाफा हुआ है।

17.87 लाख करोड़ रुपए की करेंसी सर्कुलेशन में

स्टेट मिनिस्टर फाइनेंस अर्जुन मेघवाल ने एक अन्य सवाल के जवाब में बताया कि 11 नवंबर 2016 तक देशभर में 17.87 करोड़ रुपए की करेंसी चलन में है। आरबीआई ने 2015-16 में 2,119.5 करोड़ बैंक नोट छापे हैं। जबकि 2014-15 में 2,365.2 करोड़ नोट छापे गए थे।

2015-16 के दौरान 429.1 करोड़ 500 रुपए के नोट और 97.7 करोड़ 1000 रुपए के नोट छापे गए थे। पिछले फिस्कल ईयर में 500 रुपए के 501.8 करोड़, जबकि 1000 रुपए के 105.2 करोड़ नोट छापे गए थे।

LIVE TV