जनता का पलायन जारी,देश में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या हुई 1000 के पार

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1000 पार कर गई है. इस वक्त भारत में कोरोना की चपेट में आए मरीजों की संख्या 1005 है. अच्छी बात है कि इनमें से 88 लोगों का सफलतापूर्वक इलाज हो चुका है. हालांकि इलाज के दौरान 24 लोगों की मौत हो चुकी है।अगर दुनिया के आंकड़ों की बात करें तो अभी कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 6 लाख 49 हजार 904 है, जबकि 1 37 हजार 283 लोग इलाज के दौरान इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं. दुनिया भर में 30 हजार से ज्यादा लोगों को कोरोना अपना शिकार बना चुका है।देश में कोरोना मरीजों की तादाद 1000 के पार

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कोरोना के 210 मामले सामने आए हैं. इसमें 25 लोगों का इलाज हो चुका है और 5 लोगों की मौत हो चुकी है.इसके बाद नंबर आता है केरल का. यहां पर 187 केस दर्ज किए गए हैं. केरल में शनिवार को कोरोना वायरस से पहली मौत दर्ज की गई. केरल के एर्नाकुलम मेडिकल कॉलेज में शनिवार को इलाज के दौरान 69 साल के एक शख्स की मौत हो गई. दिल्ली में कोरोना से पीड़ित मरीजों की संख्या 49 है. दिल्ली में शनिवार को यमन के एक नागरिक की इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

नवरात्रि के पांचवें दिन ऐसे करें मां स्कंदमाता की आराधना, मां करेंगी सभी मनोकामना पूरी

इस बीच केंद्र सरकार ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए भारत की प्रतिक्रिया काफी सक्रिय रही है. वायरस के प्रकोप से पार पाने के लिए देश के प्रयासों की सराहना करते हुए सरकार ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने से पहले ही भारत ने अपनी सीमाओं पर एक व्यापक प्रतिक्रिया प्रणाली को अपना लिया था ।वीजा के निलंबन के साथ ही हवाई मार्ग से भारत आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने जैसे फैसले किसी भी अन्य देश से बहुत पहले लिए गए।भारत में 30 जनवरी को कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था, जबकि चीन और हांगकांग से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग 18 जनवरी से ही शुरू कर दी गई थी।

सरकार ने कहा, वैश्विक परिदृश्य पर नजर डाली जाए तो कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित इटली और स्पेन ने पहले रिपोर्ट किए गए मामले के बाद क्रमश: 25 दिन और 39 दिन बाद यात्रियों की स्क्रीनिंग शुरू की थी।केंद्र सरकार कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए कई प्रतिबंधात्मक कदम उठाए, जिसमें यात्रा प्रतिबंध, स्क्रीनिंग के लिए अधिक देशों और हवाईअड्डों को जोड़ना, वीजा के निलंबन और सेल्फ आइसोलेशन के उपायों को प्रभावी ढंग से शामिल करना, रोग के प्रसार को रोकना आदि शामिल है.

=>
LIVE TV