गोरखपुर विकास प्राधिकरण के इतिहास में पहली बार होने जा रही ऑनलाइन बोर्ड की बैठक

गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) के इतिहास में पहली बार बोर्ड की बैठक ऑनलाइन होने जा रही है। तीन सितंबर को आयोजित होने वाली बैठक में कई बिंदुओं पर चर्चा होगी। कोरोना संक्रमण के कारण सरकारी विभागों की कार्यशैली में भी बदलाव आया है। हालांकि करीब दो महीने पहले हुई जीडीए बोर्ड की पिछली बैठक प्राधिकरण के सभागार में ही हुई थी। पर, पिछले कुछ दिनों से संक्रमण के आंकड़ों में वृद्धि एवं अलग-अलग विभागों में कर्मचारियों के संक्रमित होने के कारण सभागार में बैठक न करने का निर्णय लिया गया है। सभी सदस्यों को सूचित कर दिया गया है कि इस बार बोर्ड बैठक ऑनलाइन प्लेटफार्म ज़ूम पर होगी। सभी सदस्यों को जल्द ही लिंक उपलब्ध करा दिया जाएगा। बैठक में दूसरे सरकारी विभागों के अधिकारी भी शामिल होते हैं। ऑनलाइन बैठक के प्रस्ताव पर उन्होंने भी सहमति जताई थी।

पुराने बिंदुओं पर होगी चर्चा

इस बार ऑनलाइन बैठक में पुराने नए प्रस्ताव बहुत कम होंगे। अधिकतर पुराने बिंदुओं पर ही चर्चा होगी। अवैध कालोनियोंके बने मकान का मानचित्र पास करने को लेकर शासन से अनुमति मांगी गई थी। इस बिंदु पर एक बार फिर चर्चा की जाएगी। इसी प्रकार अवैध कालोनियों का बिंदु भी बैठक के एजेंडे में शामिल होने की संभावना है। शमन नीति में संशोधन के प्रस्ताव को भी बैठक में पास कराकर शासन को भेजने की तैयारी है। इसके अतिरिक्त शासन की ओर से आए दिशा-निर्देशों के अनुपालन का मामला भी बैठक में रखा जाएगा। महायोजना 2031 को जल्द पूरा करने पर भी बोर्ड बैठक में चर्चा होने की संभावना है।

जीडीए बोर्ड की बैठक अबतक प्राधिकरण के सभागार में होती आयी है। पर, कोविड 19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए सुरक्षा को प्राथमिकता दी जाएगी। इसी बात को ध्यान के रखते हुए बैठक को ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा। बैठक में कई बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी।

=>
LIVE TV