कोरोना होने के डर से क्वारंटाइन से भागे 23 साल के इस युवक ने की ऐसी हरकत कि….

लखनऊ। उत्तर प्रदेश से एक चौकादेने वाली खबर सामने आई है। यहां पर लखमीरपुर के एक परिवार का 23 साल का युवक क्वारंटाइन में था। अपने परिवार से मिलने के लिए वह वहां से भाग निकला। पुलिस के पीछे आने की खबर से युवक ने सोसाइड कर लिया। युवक को गांव के बाहर एक स्कूल में रखा गया था।

पुलिस ने बताया कि शव को ऑटोप्सी के लिए भेज दिया गया है और जिला प्रशासन शोक संतप्त परिवार को मुआवजा प्रदान करेगा. मितौली के एसडीएम दिग्विजय सिंह ने कहा कि, पीड़ित को सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए क्वारैंटाइन में रखा गया था. हमने उसे यह भी बताया था कि उसके परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उसका अलग रहना एक एहतियाती उपाय है. इसके बाद भी पीड़ित अपने परिवार से मिलने के लिए कैंप से भाग गया. जब पुलिस उसे खोजते हुए गांव पहुंची, तो वह भाग निकला और बाद में उसे फांसी पर लटका पाया गया. मैगलगंज पुलिस स्टेशन के एसएचओ चंद्रकांत सिंह ने कहा, ऐसा लगता है कि पीड़ित क्वारैंटाइन रहने को लेकर बहुत ज्यादा डर गया और उसने इतना बड़ा कदम उठाया.

और उसे वापस केन्द्र में ले आए थे. पुलिस ने बताया कि वह मंगलवार दोपहर फिर से भाग गया था और अपने परिवार से मिलने के लिए गांव गया था. जब उसे पता चला कि पुलिस उसे तलाश रही है, तो वह अपने घर से भाग गया और बाद में उसका शव गांव के बाहरी इलाके में लटका हुआ मिला.

पुलिस ने बताया कि शव को ऑटोप्सी के लिए भेज दिया गया है और जिला प्रशासन शोक संतप्त परिवार को मुआवजा प्रदान करेगा. मितौली के एसडीएम दिग्विजय सिंह ने कहा कि, पीड़ित को सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए क्वारैंटाइन में रखा गया था. हमने उसे यह भी बताया था.

कोरोना के वक्त में तबलीगी कार्यक्रम करना पड़ा भारी, देखें आंकड़े

कि उसके परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उसका अलग रहना एक एहतियाती उपाय है. इसके बाद भी पीड़ित अपने परिवार से मिलने के लिए कैंप से भाग गया. जब पुलिस उसे खोजते हुए गांव पहुंची, तो वह भाग निकला और बाद में उसे फांसी पर लटका पाया गया. मैगलगंज पुलिस स्टेशन के एसएचओ चंद्रकांत सिंह ने कहा, ऐसा लगता है कि पीड़ित क्वारैंटाइन रहने को लेकर बहुत ज्यादा डर गया और उसने इतना बड़ा कदम उठाया.

=>
LIVE TV