कोरोना संकट के बीच पहली बार इन दो देशों के बीच खेला जाएगा मैच, तय हुआ कार्यक्रम

कोरोना वायरस के खतरे के बीच इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना क्रिकेट शेड्यूल जारी कर दिया है। यानी इस भयंकर महामारी की वजह से ठप पड़ चुकी क्रिकेट गतिविधियां इन्हीं देशों के बीच प्रतिस्पर्धा से दोबारा पटरी पर लौटेगी। 8 से 28 जुलाई के बीच खेली जाने वाली तीन मैच की टेस्ट सीरीज खाली स्टेडियम में होगी। हालांकि इस सीरीज से पहले इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को सरकार से अनुमति लेनी होगी।

ईसीबी ने बयान में कहा, ‘‘वेस्टइंडीज की टीम मंगलवार नौ जून को ब्रिटेन पहुंचेगी, टीम इसके बाद पृथकवास और ट्रेनिंग के लिए ओल्ड ट्रैफर्ड जाएगी। पहले टेस्ट की शुरुआत से पहले एजियास बाउल जाने से पहले वे तीन हफ्ते तक वहां रहेंगे। ‘हमारा मुख्य उद्देश्य यह है कि सभी हितधारकों के लिए सुरक्षित माहौल मुहैया कराया जाए जिसमें खिलाड़ी, मैच अधिकारी, आयोजन स्थल के जरूरी कर्मचारी, संचालन स्टाफ, प्रसारणकर्ता और मीडिया शामिल है। हम सरकार और अपनी मेडिकल टीम के साथ रोजाना चर्चा कर रहे हैं। ये हमारी प्रस्तावित तारीखें हैं और ये ब्रिटेन सरकार की स्वीकृति पर निर्भर करेगा।’

पूरे दुनिया के क्रिकेट फैंस की निगाहें इस सीरीज पर होगी इसलिए दोनों ही टीमों ने भी अपनी कमर कस ली है। पिछले सोमवार से वेस्टइंडीज के कई बड़े खिलाड़ियों ने अभ्यास शुरू कर दिया तो इंग्लिश टीम कोरोना के बाद सबसे पहले मैदान पर उतरने वाला दल बना था। बीते शुक्रवार को इंग्लैंड ने 55 खिलाड़ियों के ट्रेनिंग ग्रुप की घोषणा की है, जिसमें 14 युवा खिलाड़ी भी शामिल हैं।

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच यह सीरीज इसलिए भी दिलचस्प होगी क्योंकि खेल नए नियमों के साथ खेला जाएगा। खिलाड़ी अब पहले की तरह गेंद की चमक बरकरार रखने के लिए थूक या लार का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। गेंद को स्विंग देने के लिए अब सिर्फ पसीने का ही इस्तेमाल किया जा सकता है। खेल के दौरान जश्न मनाने के लिए न ही खिलाड़ी आपस में गले मिल सकेंगे और न ही हाथ मिला सकेंगे। यहां तक कि हर चौके-छक्के और विकेट के बाद उनका उत्साहवर्धन करने वाले फैंस भी स्टेडियम से नदारद होंगे। यानी कोरोना काल के बाद वाला क्रिकेट पूरी तरह से नए अंदाज में होगा।

 

 

=>
LIVE TV