एसजीपीजीआइ के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमान को मिला केजीएमयू के कुलपति पद का अतिरिक्त कार्यभार

किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ को अभी तक स्थाई कुलपति नहीं मिला है। प्रोफेसर मदनलाल बह्म भट्ट का विस्तारित कार्यकाल भी आज समाप्त हो गया। इसके बाद भी यूनिवर्सिटी को कार्यवाहक कुलपति मिला है। केजीएमयू के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट का कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी किसी नियमित कुलपति की नियुक्ति नहीं हो पाई। 

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल एवं कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुॢवज्ञान संस्थान, (एसजीपीजीआइ),लखनऊ के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमान को लखनऊ को वर्तमान दायित्वों के साथ कुलपति, किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू)लखनऊ का कुलपति नियुक्त किया है।

प्रोफेसर आरके धीमान की कुलपति किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय, लखनऊ के पद पर नियुक्ति तीन माह अथवा नियमित कुलपति की नियुक्ति अथवा अग्रिम आदेशों तक, जो भी पहले को, तक की अवधि के लिए की गयी है। उल्लेखनीय है कि केजीएमयू के कुलपति प्रोफेसर मदनलाल बह्म भट्ट का विस्तारित कार्यकाल आज समाप्त हो रहा था। केजीएमयू के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट का कार्यकाल 14 अप्रैल 2029 में पूरा हो गया था। इसके बाद उन्हें तीन माह का कार्य विस्तार दिया गया था। इस अवधि में भी किसी कुलपति की नियुक्ति नहीं हो पाई। जिसके बाद राज्यपाल ने आधिकारिक घोषणा कर नई नियुक्ति होने तक के लिए एसजीपीआइ के निदेशक प्रो आरके धीमान को तीन माह के लिए केजीएमयू के कुलपति के पद का अतिरिक्त कार्यभार दिया है। अग्रिम आदेशों तक वहीं कुलपति का कार्यभार संभालेंगे।

=>
LIVE TV