एमटेक के इस छात्र ने तैयार किया एक सेंसरयुक्त यंत्र, जल्द ही बाजार में होगा उपलब्ध

कोरोना संक्रमण के दौर में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (नाइलेट) के एमटेक छात्र सुमित कुमार वैश्य ने एक सेंसरयुक्त यंत्र तैयार किया है। इसके प्रयोग से लिफ्ट और एटीएम चलाने के लिए बटन छूने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उंगलियों के इशारे से ही काम चल जाएगा। जल्द ही यह यंत्र बाजार में उपलब्ध होगा।

बकौल सुमित लाकडाउन में उपजी परिस्थितियों सेे इस आविष्कार का विचार आया। मैंने देखा कि लिफ्ट के इस्तेमाल के दौरान बटन दबाने के बाद लोगों को बार-बार अपने हाथ सैनिटाइज करने पड़ रहे थे। नाइलिट के निदेशक डा. एकेडी द्विवेदी से सेंसरयुक्त एक ऐसा यंत्र तैयार करने की चर्चा की, जिससे बिना छुए ही लिफ्ट संचालित होगी तो उन्होंने संस्था के वैज्ञानिकों को मदद के लिए निर्देशित किया। परिणाम यह हुआ कि मात्र छह महीने में यंत्र तैयार करने में सफलता मिल गई।

सुमित ने बताया कि इस यंत्र को बनाने में उच्च गुणवत्ता के इलेक्ट्रानिक कंपोनेंट का प्रयोग किया गया है। जिनमें से कुछ अमेरिका से भी से मंगाए गए हैं। यह यंत्र एटीएम में भी कारगर होगा। मामूली परिवर्तन के साथ इसे एटीएम मशीनों में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सुमित ने बताया कि इसे लेकर अभी काम जारी है। यंत्र को संस्था के इलेक्ट्रॉनिक्स विभागाध्यक्ष व ज्वाइंट डायरेक्टर एसके ङ्क्षसह और वैज्ञानिक दीपम दुबे के मार्गदर्शन में विकसित किया गया है।

स्टार्टअप इंडिया की वेबसाइट पर हो चुका है प्रदर्शन

नाइलिट के निदेशक डा. एकेडी द्विवेदी ने बताया कि संस्था के छात्र सुमित ने ‘इनोवेशन इंक्युबेशन एंड स्टार्ट-अप सेल’ की सहायता से ‘हिंडोनिक्स’ नाम के स्टार्टअप की नींव रख दी है। इसको भारत सरकार के स्टार्टअप इंडिया प्रोग्राम के तहत संचालित संस्था ‘अग्नि’ की वेबसाइट पर भी प्रदर्शित किया जा चुका है। 

=>
LIVE TV