इलाज के लिए जा रही 35 वर्षीय गर्भवती की रास्ते में हुई मौत

नगला ढीपा निवासी राजीव दिवाकर की 35 वर्षीय गर्भवती पत्नी चंद्रकांती को अचानक हालत खराब होने पर स्वजन जिला अस्पताल लेकर गए। हालत नाजुक होने पर मेडिकल कालेज सैफई रेफर कर दिया गया। वहां पहुंचने से पहले रास्ते में ही उसकी मृत्यु हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया।

थानाध्यक्ष सतीश यादव ने बताया कि महिला गर्भवती थी और ज्यादा रक्तस्त्राव होने पर उसे इला•ा के लिए ले जाया गया था। स्वजन ने बताया कि चंद्रकांती पांच माह के गर्भ से थी। अचानक रक्तस्त्राव की शिकायत होने पर हालत बिगड़ती चली गई। वहीं मायके वालों ने ससुरालीजन पर हत्या का आरोप लगाया है। नातिन ने नानी के गोद में त्यागे प्राण संवादसूत्र, इकदिल : प्रेमनगर औरैया की राधा देवी पत्नी ओमकार सिंह अपनी बेटी की 10 वर्षीय पुत्री बबिता पुत्री नरेश को सुबह करीब चार बजे पेट में अचानक दर्द होने पर उपचार के लिए रोडवेज बस से इटावा ले जा रही थी। रास्ते में तबीयत ज्यादा खराब होने के कारण वह इकदिल नेशनल हाईवे पर मस्जिद के पास नातिन सहित उतर गई। पेट में दर्द इतना बढ़ गया कि नातिन ने उसकी गोद में दम तोड़ दिया। हाईवे किनारे रह रहे लोगों ने जाकर देखा तो राधा रो रही थी। तब उसके स्वजन को सूचना दी गई। इस पर राधा का पुत्र सूरज आ गया। सूचना पर थानाध्यक्ष मदन गोपाल गुप्ता भी पहुंच गए। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

=>
LIVE TV