आसाराम के उज्जैन आश्रम पर साधुओं का कब्जा

asaram_56149a8ad4679एजेंसी/ उज्जैन : संत और प्रवचनकार के ही साथ किशोरी से दुष्कर्म के आरोपी आसाराम और उनके पुत्र नारायण सांई पर अब आयकर विभाग की नज़रें टेढ़ी हो गई हैं। आयकर विभाग ने अपनी कार्रवाई के दौरान 2500 करोड़ रूपए की संपत्ती की रिपोर्ट तैयार कर दी है, जिस आधार पर करीब 750 करोड़ रूपए से अधिक की वसूली की जा रही है। दूसरी ओर सिंहस्थ प्रारंभ होने से पूर्व साधुओं ने आसाराम के आश्रम पर अपना अधिकार जमा लिया। आश्रम में साधु घुस गए। उन्होंने आसाराम के पोस्टर तक फाड़ डाले।

उल्लेखनीय है कि जांच दल को आसाराम के अहमदाबाद स्थित एक साधक के घर से कुछ दस्तावेजों के 42 थेले मिले थे। दूसरी ओर आसाराम की संपत्तियों में जब्त कंप्युटर और लैपटाॅप के पासवर्ड खोलने का प्रयास किया गया, ऐसे में जब सही पासवर्ड डालने का प्रयास किया गया तो पासवर्ड गलत निकला। क्योंकि ज्यादातर में डबल-पासवर्ड डाले गए थे। इस वजह से सही पासवर्ड डालने के बाद भी स्क्रीन पर सबसे पहले ‘इन करेक्ट’ का मैसेज आता था।

उल्लेखनीय है कि आसाराम – नारायण पर करीब 750 करोड़ रूपए का टैक्स लगाने हेतु आयकर विभाग के अधिकारियों ने देशभर में 100 से भी अधिक संपत्तियों का प्रोविजनल अटेचमेंट किया। अब आसाराम की जमीनों, संपत्तियों का हिसाब आयकर विभाग लगा रहा है।

=>
LIVE TV