Tuesday , July 25 2017

आज का इतिहास : जन्मी थी ये हसीन ऐक्ट्रेस, आज भी बिखेर रहीं जलवे

आज का इतिहास विद्या बालन केरला के एक पलक्कड़ अय्यर परिवार में जन्मी थी। बालान मुंबई में बड़ी हुई और संत अन्थोनी गर्ल्स उच्च विद्यालय, चेम्बूर में पढ़ी। बाद में उन्होंने संत जेवियर कोलेज से समाजशास्त्र से स्नातक की डिग्री, हासिल की और मुंबई विश्वविद्यालय में दाखिल हुईं।

उनकी फ़िल्मी करियर की शुरुआत मलयालम फ़िल्म चक्रम से हुई। इसमें फ़िल्म के अभिनेता, सुपर स्टार मोहनलाल थे लेकिन वह फ़िल्म बंद कर दी गई। इसके बाद उन्होंने एक तमिल फ़िल्म, रन हस्ताक्षर की। लेकिन कुछ अप्रत्यक्ष कारणों के उसे पहली सेडुल के बाद फ़िल्म से हटा दिया गया और उसकी जगह मीरा जासमिन को लिया गया।

फिल्म जगत में अफवाह के मुताबिक, बालन को दूसरी तमिल फ़िल्म मनासेल्लम  मिली जिसमे श्रीकांत थे। अप्रदर्शन के कारण उन्हें इस फिल्म से निकाल दिया गया और तनु कृष्ण को लिया गया।

फिर वह टेलीविजन विज्ञापन की ओर मुड़ गई। 1998 के बाद से, वह कई टेलीविजन विज्ञापनों में दिखाई दी, जिनमें से अधिकतर विज्ञापनों का निर्देशन प्रदीप सरकार द्वारा किया गया।

उन्होंने सहायक भूमिकाओं में यूफोरिया, सुभा मुदगल और पंकज उधास जैसे गायक और बैंड के साथ काम किया।

बालन ने हम पाँच के कुछ एपिसोड में राधिका माथुर के रूप में भी दिखाई दी। बाद में उनकी जगह यहां भी अमिता नांगिया को इस भूमिका के लिए चुन लिया गया।

2003 में, वह बंगाली फ़िल्म, भालो थेको  में भूमिका निभाई जिसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए आनंदलोक पुरस्कार से कलकत्ता में नवाजा गया।

बालन ने हिन्दी फिल्मों में केरियर की शुरुआत परिणीता से की जिसे फ़िल्म समीक्षकों द्वारा भी सराहा गया था।

यद्धपि यह फ़िल्म ज्यादा नही चली, परन्तु इस फ़िल्म में उनके अभिनय के लिए आलोचकों द्वारा सराहा गया।

उन्हें उभरती अभिनेत्री के लिए सर्वश्रेष्ठ नई अदाकारा फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया और सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए नामांकन हुआ।

उनकी पहली दो फिल्मों की सफलता के बाद, वही निर्माता जिन्होंने उन्हें मनासेलम  से हटा दिया था, उन्हें अपनी फ़िल्म दसावतारम  में कमल हसन के साथ लेना चाहा। इस बार बालन ने इस निर्माता के प्रास्ताव को ठुकरा दिया और उसकी जगह असीन थोत्तुरन्कल ने इस फिल्म को हस्ताक्षर किया।

2006 में, वह संजय दत्त के साथ धमाकेदार फ़िल्म लगे रहो मुन्नाभाई  में दिखाई दी। एक बार फ़िर उसके अभिनय की चर्चा फिल्मी पंडितों के जुबान पर थी। यह उस वर्ष की दूसरी सर्वाधिक सफल फ़िल्म रही।

इसके बाद उन्हें एक के बाद एक ब्रेक मिलते गए। आज फ़िल्मी दुनिया में इनका नाम मशहूर ऐक्ट्रेस में गिना जाता है।

आज का इतिहास

1862 – भारतीय दंड संहिता लागू किया गया।

1877 – इंग्लैण्ड की महारानी विक्टोरिया भारत की साम्राज्ञी बनी।

1906 – ब्रिटिश सरकार ने भारतीय मानक को स्वीकार किया।

1950 – अजाइगढ़ का राज्य भारत संघ में मिलता है।

1985 – लीबिया सरकार द्वारा सभी नागरिकों के लिए सैन्य प्रशिक्षण अनिवार्य घोषित।

1992 –भारत और पाकिस्तान ने पहली बार अपने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूचियों की अदला-बदली की।

डाक्टर बुतरोस धाली ने सं।रा। संघ के महासचिव का कार्यभार ग्रहण किया।

1993 – चेकोस्लोवाकिया का दो स्वतंत्र गणराज्यों- चेक एवं स्लोवाक के रूप में विभाजन।

1994 – उत्तरी अफ़्रीका मुक्त व्यापार समझौता (नाफ्टा) व्यापारिक बना।

1995 – विश्व व्यापार संगठन अस्तित्व में आया।

1996 – सिंगापुर एशिया में जापान के बाद दूसरा विकसित देश बना।

1997 – भारत-बांग्लादेश के मध्य जल बंटवारे की संधि प्रभावी।

1999 – यूरोप के 11 देशों की साझी मुद्रा यूरो का प्रचलन प्रारम्भ।

2000 – न्यूजीलैंड से 860 किमी। पूर्व दिशा में स्थित मोरिओरी चैटहैम द्वीप पर सहस्त्राब्दी की प्रथम किरण पड़ी।

2001 –अंतर्राष्ट्रीय युद्ध अपराध कोर्ट के गठन के लिए रोम संधि पर संयुक्त राज्य अमेरिका व इस्रायल के हस्ताक्षर।

कलकत्ता का नाम आधिकारिक तौर पर कोलकाता हुआ।

2002 – संयुक्त राज्य अमेरिका ने कहा कि आतंकवाद से निपटने के लिए भारत पाकिस्तान को मोहलत दे, ब्रिटेन ने पाक की कार्रवाई को अपर्याप्त माना।

2004 – चेक राष्ट्रपति वाक्लाव हावेल को गांधी शांति पुरस्कार प्रदान किये गये, सार्क देशों ने दक्षिण एशिया को मुक्त व्यापार क्षेत्र बनाने वाली साफ्टा संधि और सार्क आतंकवाद विरोधी संधि को मंजूरी दी।

2005 – इंडोनेशिया और भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह में पुन: भूकम्प के झटके।

2006 – दक्षेस देशों के बीच मुक्त व्यापार समझौता ‘साफ़्टा’ लागू।

2007 – विजय नांबियार संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून के चीफ़ आफ़ स्टॉफ़ नियुक्त।

2008 –भारत ने सार्क में बांग्लादेश सहित एल डी देशों के निर्यात पर 1 जनवरी, 2008 से शुल्क मुक्त पहुंच (भारत की संवेदनशील सूची में शामिल कुछ वस्तुओं को छोड़कर) प्रदान करना प्रारंभ किया।

उत्तर प्रदेश में मूल्य वर्द्धित कर ‘वैट’ लागू किया गया।

भूटान के इतिहास में पहली बार चुनाव में जीते नेशनल काउंसिल के 15 प्रतिनिधियों के नामों की घोषणा की गयी।

2009 – केन्द्र सरकार ने सैन्य कर्मियों के लिए वेतन आयोग के गठन के साथ ही 12000 लेफ्टिनेंट कर्नल और नौसेना व वायुसेना में उनके समकक्षों को ऊँचे वेतनमान देने का फ़ैसला किया। उत्तर प्रदेश कैडर के 1972 बैच के आई।पी।एस। अधिकारी राजीव माथुर ने आइ।बी। के निदेशक पद का कार्यभार सम्भाला।

2013 -उत्तर प्रदेश के जनपद हरदोई में महात्मा गांधी जनकल्याण समिति के सचिव अशोक कुमार शुक्ला ने गांधी भवन में एक प्रार्थना कक्ष स्थापित कराया तथा सर्वोदय आश्रम टडियांवा के सहयोग से सर्वधर्म प्रार्थना का नियमित आरंभ कराया।

एक जनवरी को जन्मे व्यक्ति

1890 – सम्पूर्णानन्द – भारत प्रसिद्ध राजनेता

1892 – महादेव देसाई – भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारी

1894 – प्रोफेसर सत्येंद्रनाथ बोस, प्रख्यात भारतीय वैज्ञानिक

1914 – नूर इनायात ख़ाँ, भारतीय राजकुमारी

1920 – मनीराम बागड़ी – समाजवादी विचारधारा के प्रसिद्ध भारतीय नेता।

1941 – असरानी, फ़िल्म हास्य अभिनेता

1943 – रघुनाथ अनंत माशेलकर, भारतीय वैज्ञानिक

1950 – दीपा मेहता, निर्माता निर्देशक, पटकथा लेखक

1951 – नाना पाटेकर, हिन्दी व मराठी सिनेमा के लोकप्रिय अभिनेता

1952 – उदय प्रकाश, हिन्दी कथाकार व उपन्यासकार

1953 – सलमान खुर्शीद, राजनीतिज्ञ

1971 – ज्योतिरादित्य सिंधिया – ग्वालियर राजघराने के स्वर्गीय माधवराव सिंधिया के पुत्र ।

1975 – सोनाली बेंद्रे – हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री

1979 – डिंको सिंह – भारत के सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज़ों में से एक हैं।

1978 – तनीशा – हिन्दी फ़िल्मों की अभिनेत्री

1937 – काशीनाथ सिंह, प्रसिद्ध उपन्यासकार

1914 – अद्वैत मल्लबर्मन, प्रसिद्ध बांग्ला लेखक

1875 – हसरत मुहानी – लखनऊ के प्रसिद्ध शायर।

एक जनवरी को हुए निधन

1983 – डी। एन। खुरोदे – एक प्रसिद्ध भारतीय उद्यमी थे, जिन्हें भारत के दुग्ध उद्योग में उनके योगदान के लिए जाना जाता है।

1933 – हेमचंद दासगुप्त – भारत के प्रसिद्ध भू-वैज्ञानिक।

1940- पानुगंटि लक्ष्मी नरसिंग राव- प्रसिद्ध तेलुगु लेखक।

1955 – शान्ति स्वरूप भटनागर – भारत के प्रसिद्ध वैज्ञानिक।

2008 – प्रताप चन्द्र चंदर – पूर्व केन्द्रीय शिक्षा मंत्री एवं लेखक।

एक जनवरी के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

आर्मी मेडिकल कोर स्थापना दिवस

राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस स्थापना दिवस

LIVE TV