ख़त्म हुआ पैसे का झंझट, अब बिना नोट के करिए ताज का दीदार

आगरा में ताजमहलआगरा। पर्यटकों की सुविधा को देखते हुए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने कैशलेस सिस्टम की ओर कदम बढ़ा दिया है। ताज नगरी आगरा में ताजमहल समेत अन्य स्मारकों में टिकट काउंटर पर स्वैप मशीन लगाने की शुरुआत हो गयी है।

आगरा में ताजमहल

पर्यटकों को नोट बैन की वजह से काफी मुश्किलें आ रही थीं। इस वजह से देश में आए हुए विदेशी पर्यटक अपनी यात्रा बीच में छोड़कर जाने को मजबूर थे। इससे टूरिज्म विभाग को भी काफी नुकसान उठाना पड़ रहा था।

बता दें एएसआइ के दिल्ली मुख्यालय द्वारा स्मारकों पर एक्सिस बैंक की स्वैप मशीनें लगाने का निर्णय लिया गया। ताज की शिल्पग्राम स्थित टिकट विंडो पर कार्ड स्वैप मशीन लगाई गई है।

ताज के साथ ही आगरा के अन्य स्मारक सिकंदरा और फतेहपुर सीकरी पर भी ये मशीन लगा दी गई हैं।

आगरा किला व एतमा-उद-द्दौला में भी मशीनें लगायी जानी हैं। कार्ड से पेमेंट करने पर सैलानियों को अतिरिक्त शुल्क देना होगा।

फिलहाल 30 दिसंबर तक डेबिट कार्ड पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। क्रेडिट कार्ड से टिकट लेने पर पर्यटकों को डोमेस्टिक कार्ड पर 1.3 फीसद और इंटरनेशनल कार्ड पर 1.75 फीसद की दर से शुल्क लिया जाएगा।

वहीं विभाग द्वारा दी गई इस सुविधा से पर्यटक खुश है। उनका कहना है कि इससे हमें ज्यादा कैश कैरी करने की जरुरत नहीं पड़ेगी और आसानी से घूमा जा सकेगा।

साथ ही पर्यटक पीएम मोदी के इस फैंसला का स्वागत करते भी नजर आए।

ग्रुप में आने वाले पर्यटकों के लिए डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) देकर भी टिकट बुक कराने की सुविधा शुरू की गई है।

=>
LIVE TV