अमेरिका ने चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Huawei के अस्थायी सामान्य लाइसेंस को किया रद्द

 अमेरिका ने Tiktok बैन के बाद चीन को एक और बड़ा झटका दिया है। अमेरिका ने चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Huawei के अस्थायी सामान्य लाइसेंस को रद्द कर दिया है। अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने एक ई-मेल से लाइसेंस के रद होने की जानकारी दी। मेल में कहा गया है कि यह लाइसेंस Huawei डिवाइस यूजर और टेलीकम्यूनिकेशन प्रोवाइड के लिए अस्थायी मौका था कि वो समय रहते नई डिवाइस और नए प्रोवाइडर का चुनाव कर सकते थे। 

Huawei के पुराने स्मार्टफोन में अपडेट मिलना हो जाएगा बंद 

बता दें कि इस लाइसेंस से Huawei अमेरिका में Google के साथ मिलकर स्मार्टफोन के मेंटिनेंस का काम करती थी। हालांकि लाइसेंस के रद्द होने के बाद Huawei स्मार्टफोन का मेंटिनेंस बंद हो जाएगा। साथ ही Huawei के पुराने स्मार्टफोन में अपडेट मिलना मुश्किल हो जाएगा। मामले में Huawei प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी पूरी स्थिति का आकलन कर रही है। The Washington Post के मुताबिक लाइसेंस रद होने से ग्रामीण दूरसंचार कंपनियों और अमेरिका में हुवावे फोन यूजर्स को परेशानी उठाना पड़ सकता है। साथ ही कुछ वायरलेस नेटवर्क में दिक्कत आ सकती है। इसके अलावा लाइसेंस रद्द होने से सॉफ्टवेयर अपडेट नही होगा।अमेरिका ने पिछले साल एक अस्थायी लाइसेंस जारी किया था,  जो google को मौजूदा Huawei एंड्राइड डिवाइस OS को सपोर्ट और अपडेट देता था। ट्रेड बैन होने से फ्यूचर प्रोडक्ट के डेवलपमेंट पर असर देखा जाएगा।

Huawei नए सॉफ्टवेयर पर कर रही काम 

Huawei अपने ऑपरेटिंग सिस्टम HarnonyOS पर काम कर रही है। लेकिन यह अभी हकीकत से दूर है।  Huawei ने स्वीकार किया है कि अमेरिकी बैन से उसकी कंपनी पर बुरा असर पड़ रहा है. खासतौर पर Google के कोर एंड्राइड सॉफ्टवेयर, Play Store और पॉप्युलर ऐप जैसै search, Map की गैरमौजूदगी में कंपनी को नुकसान उठाना पड़ रहा है। वही ब्रिटेन की सरकार ने पिछले महीने अगले साल से 5G के लिए नए Huawei किट की खरीद पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी और कहा कि 2027 के अंत तक चीनी दूरसंचार दिग्गज के उपकरण 5G नेटवर्क से पूरी तरह से हटा दिए जाएंगे।

=>
LIVE TV