WHO का दावा, कोरोना संक्रमित एक हजार मरीजों में से इतने लोगो की नही बच पाती जान…

विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रमुख महामारी विशेषज्ञ ने कहा है कि कोरोना संक्रमित होने वाले लोगों में मौत की दर 0.6 फीसदी है. महामारी विशेषज्ञ डॉ. मारिया वैन केरखोव ने कहा कुछ स्टडीज में ये आकलन किया गया है. उन्होंने कहा कि भले ही यह बहुत ज्यादा नहीं लग रहा, लेकिन यह काफी अधिक है. क्योंकि हर 167 लोगों में से एक की मौत हो रही है.

दिसंबर में चीन के वुहान से महामारी फैलने के बाद कोरोना वायरस से अब तक दुनिया में 6.9 लाख लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, मृत्यु-दर के नए आकलन से यह भी पता चलता है कि दुनिया में अब तक कोरोना से 11.5 करोड़ लोग संक्रमित हो चुके हैं. यह मौजूदा पुष्टि हुए मामलों से 7 गुना अधिक है.

ऐसा समझा जा रहा है कि दुनिया में लाखों लोग ऐसे हैं जो कोरोना से संक्रमित तो हुए लेकिन उनका टेस्ट नहीं हो पाया. खासकर महामारी के शुरुआती दिनों में कई देशों के पास टेस्ट की क्षमता कम थी.

वहीं, WHO की टेक्निकल लीड डॉ. मारिया वैन केरखोव ने कहा कि कोरोना वायरस की मृत्यु दर पता लगाने के लिए वैज्ञानिकों की कई टीम काम कर रही है. मारिया ने यह भी कहा कि फिलहाल हम नहीं जानते कि असल में कितने लोग संक्रमित हो चुके हैं. हालांकि उन्होंने कहा कि कुछ स्टडीज में संक्रमित लोगों में मृत्यु दर का आकलन 0.6 फीसदी किया गया है.

इससे पहले के कुछ आकलन में संक्रमित लोगों में मृत्यु दर 0.8 फीसदी बताई गई थी. वहीं, कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के अकेडमिक्स का मानना है कि यह दर 1.4 फीसदी भी हो सकती है.

=>
LIVE TV