UP के CM योगी ने भविष्य के जगमगाते गोरखपुर की रखी नींव, 215 करोड़ की परियोजनाओं का किया लोकार्पण-शिलान्यास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को भविष्य के जगमगाते गोरखपुर की नींव रखी। बिजली निगम की 215.77 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लखनऊ से आनलाइन शिलान्यास, लोकार्पण करते हुए उन्होंने पूर्व की सरकारों को भी कठघरे में खड़ा किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह काम पूर्व की सरकारें भी कर सकती थीं, लेकिन उनमें विकास की सोच नहीं थी। उनका ध्यान जातीय वैमनस्यता पैदा कर दंगों को प्रेरित और प्रोत्साहित करने में ज्यादा था।

लखनऊ से किया वर्चुअल लोकार्पण-शिलान्यास 

लखनऊ के पांच कालीदास मार्ग स्थित आवास पर आयोजित वर्चुअल लोकार्पण-शिलान्यास कार्यक्रम में 94.95 करोड़ रुपये की सात परियोजनाओं का शिलान्यास, 12 करोड़ रुपये की छह परियोजनाओं का लोकार्पण और 108.5 करोड़ रुपये की चार नई योजनाओं की घोषणा हुई। प्रदेश के हर घर को रोशन करने की प्रतिबद्धता दोहराते हुए योगी ने कहा कि ईज ऑफ लिवि‍ंंग सरकार की प्राथमिकता है। बिजली परियोजनाएं गोरखपुर व प्रदेश की जनता के लिए ऊर्जा विभाग का दीपावली पर उपहार हैं।

पूर्व की प्रदेश सरकारों का ध्यान नौजवानों के जीवन से खिलवाड़ कर उनकी नौकरी व रोजगार में सेंध लगाकर विभागों में संस्थागत भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने था। पिछले साढ़े तीन वर्षो से लोग प्रदेश में परिवर्तन देख रहे हैं। 1.75 लाख गांवों व मजरों का विद्युतीकरण किया गया। जो पहले असंभव था अब संभव हो गया है। गोरखपुर में मेरे साथ सभी लोग पहले कटौती और बिजली आपूर्ति में भेदभाव के खिलाफ सड़क पर उतरकर आंदोलन करते थे। आज बिजली की निर्बाध आपूर्ति मिल रही है। मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक अफसरों को निर्देश दिए कि बिजली निगम की नई परियोजनाओं के लिए जमीन उपलब्ध कराएं ताकि काम जल्द से जल्द पूरा किया जा सके।

12.30 करोड़ के इन कार्यो का हुआ लोकार्पण

पादरी बाजार उपकेंद्र की क्षमता 20 एमवीए हुई – 25.98

रानीबाग उपकेंद्र की क्षमता 15 एमवीए हुई – 27.02

खोराबार में पांच एमवीए ट्रांसफार्मर लगा – 77.68

शहर में नए ट्रांसफार्मरों की स्थापना – 389.67

शहर में पुराने व जर्जर तार हटाए गए – 310

शहर में पुराने तार की जगह एबी केबल लगे – 400

नोट- आंकड़े लाख रुपये में हैं

92.03 करोड़ की इन योजनाओं का शिलान्यास

बिछिया- 10 एमवीए क्षमता के उपकेंद्र का निर्माण : 6.48 करोड़

महादेव झारखंडी नंबर एक- दिव्यनगर क्षेत्र में 10 एमवीए के उपकेंद्र का निर्माण – 9.44 करोड़

शहर में बांस-बल्ली की जगह पोल व तार लगाने का कार्य – 10.94 करोड़

खजनी में 80 एमवीए के 132 केवी पारेषण उपकेंद्र का निर्माण – 56.21 करोड़

132 केवी मोहद्दीपुर पारेषण उपकेंद्र की क्षमता बढ़ाने का कार्य – 2.65 करोड़

132 केवी गीडा पारेषण उपकेंद्र की क्षमता बढ़ाने का कार्य – 4.56 करोड़

132 केवी मोतीराम अड्डा द्वितीय पारेषण उपकेंद्र की क्षमता वृद्धि – 1.75 करोड़

108.52 करोड़ के कार्यो की मुख्यमंत्री ने की घोषणा

खोराबार में 220 केवी जीआइएस पारेषणा उपकेंद्र, क्षमता 180 एमवीए का कार्य – 101.02 करोड़

60 किलोमीटर जर्जर व क्षतिग्रस्त तार की जगह एलटीएबी केबल बिछाने का कार्य – 4.80 करोड़

100 किलोमीटर क्षतिग्रस्त व जर्जर तार हटाकर डाग तार लगाने का कार्य – 1.20 करोड़

1000 पोल बदलने का कार्य – 1.50 करोड़

=>
LIVE TV