देश के दुश्मनों को फांसी देने वाले जल्लाद का मकान गिरा, पत्नी और 2 बच्चें घायल

रिपोर्ट- लोकेश टण्डन

मेरठ। देश के गिने चुने जल्लादों में गिने जाने वाले पवन जल्लाद का घर आज बारिश के दौरान गिर गया। इस हादसे में उसकी पत्नी और दो बच्चे घायल हो गए। आस पास के लोगो की मदद से उनको बाहर निकाला गया और एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जल्लाद का मकान गिरा

थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र के भगवतपुरा में पवन जल्लाद का घर है । पवन का बड़ा बेटा अमन RSS शाह नगर कार्यवाह है। आज देर शाम पवन की पत्नी अपने दो बच्चों अमन और वंदना के साथ घर मे थी तभी उसके घर की छत भरभरा कर गिर गई | जिसके चलते उसमें मौजूद पवन जल्लाद की पत्नी और दोनो बच्चे दब गए। घटना से इलाके में हड़कंप मच गया।

आनन-फानन में लोगों ने महिला और बच्चों को मलबे के ढेर से बाहर निकाला। गंभीर रूप से घायल महिला को पास के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। इतना सब होने के बाद भी पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। हैरानी की बात यह है की थाना ब्रह्मपुरी के ठीक सामने मकान गिरने के बावजूद पुलिस को घंटो तक घटना का पता भी नहीं चला। फिलहाल अस्पताल में महिला का इलाज जारी है। जबकि एक बेटा और बेटी को भी चोटें आई हैं। परिजनों ने सरकार से मुआवजा देने की गुहार लगाई है ।

आपको बता दें कि इंदिरा गाँधी के हत्यारो को फांसी पर लटकाने वाले कालू जल्लाद का परिवार पीढ़ी दर पीढ़ी बरसो से इस काम को करता आया है। कालू जल्लाद के बाद मम्मू जल्लाद उनकी जगह नौकरी पर लगे और अब उनके बाद मम्मू जल्लाद का बेटा पवन जल्लाद उनकी जगह कार्य कर रहा है।

पिछले कई पुश्तो से इस परिवार के लोग देश के गद्दारों को फांसी पर लटकाने का काम करता आया है। पश्चिम उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि उत्तर भारत में पवन जल्लाद एकमात्र अकेले जल्लाद होने का दावा करते हैं। आपको बता दे कि कालू जल्लाद ने ही इंदिरा गाँधी के हत्यारे बेअंत सिंह और सतवंत सिंह को फांसी दी थी। और उनके बेटे मम्मू जल्लाद ने 12 लोगो को फांसी दी थी।

यह भी पढ़े: शिक्षामित्रों के फेवर में आए योगी, सरकार के खास आदमी को दी समस्या खत्म करने की जिम्मेदारी

इतने बरसो से जल्लाद का कार्य करने वाला ये परिवार बदहाली की स्थिति में है। इससे पहले भी कई बार लोग सरकार से मदद की गुहार लगा चुके है लेकिन अभी तक इनकी कोई सुनवाई नहीं हुई है। आज इस हादसे के बाद पवन जल्लाद और उसके परिवार की नज़रे एक बार फिर सरकार की तरफ मदद के लिए देख रही है और उन्होंने सरकार से मदद की गुहार की है। उनका कहना कि योगी सरकार इतनी आवासीय योजनाए चला रही है लेकिन उनके लिए आज भी कही कोई व्यवस्था नहीं है और वे सरकार से मांग की कि सरकार उनको उचित मुआवजा दे ताकि उनके सर पर दोबारा छत आ सके |

LIVE TV