Monday , May 21 2018

बुखार में बिस्तर नहीं छोड़ रहा बदन, ये आयुर्वेदिक हर्ब आएंगे काम  

गर्मियों के मौसम में बुखार आना एक आम समस्या है। कभी तापमान कम तो कभी तामपान ज्यादा होने के कारण बुखार की समस्या आम बात है। बुखार में सर दर्द, कमजोरी, चक्कर आने जैसे समस्याएं होती हैं। इन परेशानियों के चलते आप अपने काम पर सही से ध्यान नहीं दे पाते हैं।

बुखार में

सामन्य रूप से शरीर का तापमान 37 डिग्री होता है। इससे अधिक तामपान होने पर माना जाता है कि इंसान बुखार से पीड़ित है। बाहर का उलटा सीधा खाने और बैक्टीरिया के प्रभाव से भी बुखार आता है। इस दौरान पसीना आना, कमजोरी लगना, सर में दर्द होना ये सब आम है।

आयुर्वेद में प्राचीन काल से ही बुखार को ठीक करने के लिए प्राकृतिक जड़ी-बूंटियों का उपयोग किया जाता रहा है। आइए जानते हैं ऐसी प्राकृतिक जड़ी-बूंटियों के बारे में जो शरीर के लिए लाभकारी होती है…

फीवरफ्यू- फीवरफ्यू में एंटी-इंफ्लेमेंट्री, एंटी-सेप्टीक गुण होते हैं साथ ही यह शरीर को रिलैक्स करता है। फीवरफ्यू बुखार, माइग्रेन और अर्थराइटिस जैसी समस्याओं को कम करने के लिए लाभकारी होता है।

तुलसी- तुलसी में एंटी-बायोटिक गुण की भरमार होती है। तुलसी के पत्तों और अदरक को पानी में डालकर उबाल कर उसका काढ़ा बना लें। यह काढ़ा बुखार में पीने में काफी लाभादायक होता है। तुलसी का पत्ता बुखार को तेजी से कम करने में लाभदायक होता है।

हल्दी- हल्दी में पाया जाने वाला एंटी-वायरल और एंटी- ऑक्सीडेंट्स शरीर के इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है और बुखार को जल्दी ठीक करने में मदद करता है। इसलिए बुखार को ठीक करने के लिए हल्दी को उपयोगी हर्ब माना जाता है। इसके साछ ही हल्दी में कुरकुमिन भी पाया जाता है जो बुखार को ठीक करने में काफी मदद करता है।

लहसुन- ऐसा माना जाता है कि बुखार आने पर जितना ज्यादा पसीना निकलता है उतना ही अच्छा होता है। जितना पसीना निकलेगा उतनी ही जल्दी बुखार भी ठीक होगा । लहसुन खाने से शरीर के टॉक्सिन भी निकलते है। लहसुन में एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं इसलिए बुखार को कम करने में लहसुन का सेवन लाभकारी होता है।

अदरक- अदरक में डाइफोरेटिक गुण होते हैं जो कि पसीना आने को प्रेरित करते हैं। अदरक का सेवन करने से तेजी से पसीना आता है और शरीर का तापमान कम हो जाता है जिससे बुखार को ठीक करने में मदद मिलती है। इसलिए बुखार को ठीक करने में अदरक का सेवन उपयोगी होता है।

 

=>
LIVE TV