मीटिंग विवाद पर मनमोहन के तेवर गरम, कहा- ओछी राजनीति के तहत आधारहीन मुद्दे को मोदी ने दिया तूल

मनमोहन सिंहनई दिल्ली। गुजरात चुनाव को लेकर पक्ष और विपक्ष में तंज, व्यंग और कटाक्ष का जो सिलसिला शुरू हुआ, वो अब थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। मामला तब और भी ज्यादा गरमा गया जब पीएम मोदी द्वारा पूर्व कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर हुई मीटिंग का मामला उठाया गया। मुद्दे को उठाये जाने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने मीडिया के माध्यम से एक बयान जारी कर पीएम मोदी के इस कदम की कड़ी आलोचना की और दुख प्रकट किया।

खबरों के मुताबिक़ मनमोहन सिंह ने कहा कि वह प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इस आधारहीन मुद्दे को ओछी राजनीति के लिए जबरन तूल दिए जाने से काफी आहत महसूस कर रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष के बेटे को लेकर भड़के राहुल… ‘जय शाह’ की जबर्दस्त कमाई पर आखिर चुप क्यों हैं मोदी ?

उन्होंने आरोप लगाया कि गुजरात चुनावों में हार के डर से पीएम मोदी इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं, चुनावों में हार की आशंका से प्रधानंत्री हर तरह के हथकंडे इस्तेमाल कर रहे हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री ने यह कहकर भी प्रधामनंत्री मोदी पर निशाना साधा कि ‘कांग्रेस को किसी पार्टी या प्रधानमंत्री से राष्ट्रीयता नहीं सीखनी है।

उन्होंने कहा, “देश की सेवा में मेरा योगदान राष्ट्र जानता है। मैं चाहता हूं कि पीएम के रूप में परिपक्वता दिखाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी माफी मांगे।”

उन्होंने सवालिया अंदाज में कहा कि उन्हें ये भी बताना चाहिए कि आतंकी हमले के बाद क्यों उन्होंने आएसआई को हमारे अहम एयर बेस पर जाने दिया। उस हमले को भी पाकिस्तान ने ही अंजाम दिया था।

मनमोहन ने ये भी कहा कि मैं याद दिलाना चाहता हं कि मोदी उद्यमपुर और गुरदासपुर में आतंकी हमलों के बाद बिना बुलाए पाकिस्तान गए थे, तो क्या उन्हें इसके लिए देश से माफी नहीं मांगनी चाहिए।

चुनाव में पाक इंटरफेयर पर दहाड़े पीएम मोदी, कहा- सलाह नहीं… हम जानते हैं अपनी ताकत

वहीं दूसरी ओर मोदी द्वारा दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए पाक मंत्रालय के स्पोक्सपर्सन डॉ। मोहम्मद फैजल ने उन्हें अपने दम पर चुनाव जीतने की नसीहत दी। तो इस बात पर तीखा प्रहार करते हुए पीएम मोदी ने पाक को भी करारा जवाब दिया।

केंद्र सरकार ने कहा- हम अपनी ताकत जानते हैं और इसलिए हमें किसी की सलाह की जरूरत नहीं है।

इससे पहले पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन फैजल ने सोमवार को ट्वीट किया, “भारत को अपने यहां होने वाले चुनाव में पाकिस्तान को घसीटना बंद करना चाहिए। भारत को चाहिए कि वह हम पर साजिश करने का आरोप लगाने के बजाय अपने दम पर चुनाव जीते। भारत के हम पर लगाए ये आरोप निराधार और गैर-जिम्मेदाराना हैं।”

बता दें पीएम मोदी ने जब रविवार को कांग्रेस नेताओं की पाकिस्तान के हाईकमिश्नर से मुलाकात का आरोप लगाया तो कांग्रेस ने ऐसी किसी मीटिंग से ही इनकार कर दिया।

बाद में जब मामला मीडिया में आया तो कांग्रेस ने माना कि इस तरह की कोई मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में पूर्व आर्मी चीफ जनरल दीपक कपूर भी शामिल थे। इस बात का खुलासा एक निजी समाचार पत्र से बातचीत के दौरान उन्होंने खुद किया।

खबर है कि बातचीत में दीपक ने साफ़ किया कि मीटिंग में भारत-पाकिस्तान के रिश्तों पर बातचीत हुई थी।

देखें वीडियो :-

=>
LIVE TV