Thursday , October 18 2018

ग्रेटर नोएडा इमारत हादसा : मृतकों की संख्या बढ़कर 9 हुई, तलाशी अभियान जारी

ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में दो इमारतें ढहने की घटना में मरने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर नौ हो गई। मलबे में से गुरुवार को पांच और शवों को बाहर निकालने से यह आंकड़ा बढ़ा है। अधिकारियों ने अब भी किसी भी जीवित व्यक्ति/शव की तलाश जारी रखी है।

ग्रेटर नोएडा इमारत हादसा

एक अधिकारी ने कहा कि मंगलवार की रात शाहबेरी गांव में ढही हुई इमारतों में फंसे हुए लोगों के जिंदा बचने की उम्मीद बेहद कम है, क्योंकि 40 घंटे से ज्यादा का समय बीत चुका है।

यह भी पढ़ें:- बदले की आग में जल उठा सिकरीगंज, हत्या की वजह बनी महज एक कसम

उप महानिरीक्षक (संचालन) आर.के.राणा ने कहा, “हमारे पास लापता लोगों के बारे में कोई और सूचना नहीं है। इसलिए, मलबे में फंसे हुए ज्यादा शवों को पाने की संभावना कम है। हालांकि, फंसे हुए लोगों की संख्या ज्ञात नहीं है, इसलिए इसके बारे में पुष्टि करना जल्दबाजी होगा।”

उन्होंने कहा, “अब तक नौ शव मिले हैं। मलबे को हटाने का काम जारी है। जगह की कमी के कारण इसमें समय लगेगा।” उन्होंने कहा कि मलबे में से बुधवार को चार शव निकाले गए थे जबकि गुरुवार की सुबह पांच और शव निकाले गए।

एक राहतकर्मी ने बताया कि पड़ोसियों द्वारा बताई जानकारी के आधार पर अभी भी कम से कम 20 लोग मलबे में फंसे हैं। छह मृतकों की पहचान कर ली गई है, जिसमें मैनपुरी की प्रियंका त्रिवेदी (26), फैजाबाद के शमशाद (25), रंजीत भिमाली (30), राज कुमार (50), शिव त्रिवेदी (28) और 14 माह की पंखुड़ी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें:- डीजीपी ओपी सिंह ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, फर्जी ख़बरों पर लगाम लगाने के लिए निकाला गज़ब का तोड़

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिवार को दो-दो लाख रुपये की राहत राशि की घोषणा की है। गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी ने पहले ही मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। इस संबंध में दो दर्जन लोगों और चार आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिसमें बिल्डर गंगा शरण द्विवेदी, ब्रोकर दिनेश और संजीव को गिरफ्तार किया गया है।

देखें वीडियो:-

=>
LIVE TV