Thursday , August 16 2018

आपमें भी रोजाना दिखते हैं ये 10 लक्षण? मतलब आपकी उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है

नई दिल्ली। सिर में दर्द होना आम बात है लेकिन अगर ये दर्द अधिक बढ़ जाए तो ये ब्रेन ट्यूमर का एक प्रमुख कारण भी बन सकता है। इस भयानक बीमारी की पहचान अगर सही समय पर न किया जाए तो इंसान की मौत हो सकती है। दिमाग की गिल्टी को ब्रेन ट्यूमर कहा जाता है। इस बीमारी के लक्षण तब दिखने लगते हैं जब उसके द्वारा ली गई जगह दिमाग पर दबाव डालना शुरू कर देती है।

ब्रेन ट्यूमरक्या है जीबीएम?     

ग्लियोब्लास्टोमा मल्टीफॉर्म या जीबीएम एक तरह का जानलेवा ब्रेन ट्यूमर है। ये ट्यूमर ज्यादातर व्यस्कों में पाया जाता है। जीबीएम का विकास स्टार के आकार वाली कोशिकाओं की लीनीऐज से होता है, जिसे एस्ट्रोसाइट्स कहा जाता है।

बता दें कि यह कोशिकाएं, तंत्रिका कोशिकाओं को समर्थन प्रदान करती है। अगर वक्त रहते ही इस बीमारी का इलाज न किया जाए तो लगभग 10-15 महीनों में ही मरीज की मौत हो जाती है।

यह भी पढ़ें-नमक जैसी दिखने वाली ये चीज चुटकियों में दूर कर देगी यूरिन इंफेक्शन

जीबीएम का मुख्य कारण

जीबीएम कई अलग-अलग तरह की कोशिकाओं से मिलकर बनाता है। वहीं कुछ शोध में पता चला है कि आनुवंशिक परिवर्तन इस बीमारी का मुख्य कारण हो सकता है। जीबीएम दिमाग के सेरिब्रल हेमिस्फेरेस भाग में विकसित होता है।

इलाज

ब्रेन ट्यूमर के लिए कई तरह के उपचार उपलब्ध है। आप ब्लड टेस्ट की मदद से कम समय में ही इस बीमारी का पता लगाकर उसका इलाज कर सकते हैं। इस बीमारी का इलाज सर्जरी के अलावा रेडिएशन, कीमोथेरेपी, कंबाइंड रेडिएशन और कीमोथेरेपी के जरिए भी किया जाता है। अगर सर्जरी से ट्यूमर नहीं निकलता है तो इसके लिए रेडिएशन या फिर कीमोथेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ें-हरिद्वार जाकर इस जगह कराएं इलाज, सारी बीमारियां होंगी छूमंतर

ब्रेन ट्यूमर के लक्षण

बोलने, सुनने या दिखने में परेशानी होना

चलते समय लडखड़ा जाना

चेहरे के कुछ भागों में कमजोरी महसूस होना

वजन एकाएक बढ़ जाना

स्वभाव में बदलाव दिखना

डर लगना

हमेशा सिर दर्द की शिकायत रहना और उल्टी होना

याददाश्त कमजोर होना

गले में अकड़न होना

दौरे पड़ना

जी मचलाना

=>
LIVE TV