Tuesday , May 22 2018

ईआरसी में हिस्सा लेने वाले पहले भारतीय बनेंगे अमित्राजीत

नई दिल्ली। नेशनल रेसिंग और रैलिंग की दुनिया में मशहूर नाम अमित्राजीत घोष इतिहास रचने के मुहाने पर खड़े हैं। घोष एफआईए यूरोपीयन रैली चैम्पियनशिप (ईआरसी) में हिस्सा लेने वाले पहले भारतीय बन जाएंगे। टीम आरआरपीएम ने मंगलवार को अमित्राजीत के यूरोपीयन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने की पुष्टि की। टीम ने कहा कि उसका स्टार ड्राइवर चैम्पियनशिप के राउंड-3 (ईकेओ अर्कोपोलिस रैली-2018) से अपने स्वर्णिम अभियान की शुरुआत करेगा। इस रैली के आयोजन एक से तीन जून के बीच ग्रीस के शहर लीमा में होना है।

यह भी पढ़ें : #IPL 2018: आज प्लेऑफ में जगह बनाने उतरेंगे कोलकाता, राजस्थान

नेशनल रेसिंग और रैलिंग

कोलकाता निवासी अमित्राजीत के साथ उनके लम्बे समय के साथी अश्विन नाइक होंगे। घोष और नाइक ने रैलिंग के शीर्ष स्तर का अनुभव लेने के लिए कुछ चुनिंदा राउंड्स में हिस्सा लेने का फैसला किया है।

एमआरएफ एफएमएससीआई आईएनआरसी 2018 में टीम महेंद्रा एडवेंचर के सदस्य घोष ने कहा, “हमारे लिए ईआरसी में हिस्सा लेने वाला भारत का पहला चालक और सहचालक होना गर्व की बात है। यह विश्व रैली चैम्पियनशिप के बाद सबसे कठिन और प्रतिष्ठित रैली मानी जाती है।”

यह भी पढ़ें : #IPL 2018: बैंगलौर के सामने ताश के पत्तों के जैसे बिखर गई पंजाब, 10 विकेट से जीता मुकाबला

घोष ने आगे कहा, “हमारा लक्ष्य अधिक से अधिक मील अपने खाते में डालना होगा और साथ ही साथ पूरे साल अपार अनुभव हासिल करना होगा। मैं इस अवसर के लिए आरआरपीएम और हमारे नए स्पांसर पाना एजुकेशन का धन्यवाद करना चाहूंगा। यह हमारे करियर का काफी अहम क्षण है।”

अमित्राजीत ने 2012 और 2013 में नेशनल रैली चैम्पियनशिप जीती थी। इसके अलावा उन्होंने 2005 में नेशनल रेसिंग चैम्पियनशिप भी जीती है। यही नहीं, वह एमआरएफ रेसिंग चैम्पियन होने के अलावा 1400 सीसी कटेगरी में नेशनल रैली चैम्पियनशिप भी जीत चुके हैं। घोष ब्रिटिश रैली चैम्पियनशिप में पहले ही प्रयास में क्लास पोडियम हासिल करने वाले पहले भारतीय चालक हैं।

भारतीय टीम ईआरसी 3 कटेगरी में फोर्ट फिएस्टा आर2 कार में सवार होगी। यह कार फाइव स्पीड सिक्वेंशियल गियरबॉक्स से युक्त 170 पीएचपी इंजन से लैस है। ईआरसी की तैयारियों के मद्देनजर घोष और अश्विन इस सप्ताह के अंत में रैली तालसी 2018 में हिस्सा लेंगे। यह लातवियन रैली चैम्पियनशिप का एक राउंड है।

घोष ने कहा, “मैं रैली तालसी को ईआरसी की तैयारियों के मद्देनजर अपनी कार के साथ सामंजस्य बनाने के माध्यम के तौर पर देख रहा हूं। मैच प्रैक्टिस से बेहतर कोई और प्रैक्टिस नहीं होती।”

घोष और अश्विन इस साल वर्ल्ड रैली चैम्पियनशिप के भी कुछ राउंड्स में हिस्सा लेने की सोच रहे हैं। हालांकि घोष ने कहा कि वल्र्ड रैली चैम्पियनशिप में हिस्सेदारी को लेकर अभी कोई पुष्ठ फैसला नहीं हो सका है और जैसे ही कुछ निर्णय होगा, वह इसकी जानकारी साझा करेंगे।

देखें वीडियो :-

=>
LIVE TV