मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार के 6 नए आरोप

कुआला लुम्पुर। मलेशिया की एक अदालत ने गुरुवार को सरकार के स्वामित्व वाले वनमलेशिया डेवलपमेंट बीरहद (वनएमडीबी) फंड में कथित गबन के संबंध में पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक पर भ्रष्टाचार के छह नए आरोप तय किए हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक

खबर के मुताबिक, 65 वर्षीय नजीब पिछले आरोपों के लिए जमानत पर बाहर हैं। उनके ऊपर पद के दुरुपयोग और सरकारी फंडों के धन शोधन का आरोप है। इस दौरान वह अदालत में ही मौजूद थे।

नजीब के साथ पूर्व ट्रेजरी महासचिव इरविन सेरीगर पर भी भ्रष्टाचार के समान आरोप तय किए गए हैं।

प्रत्येक आरोप के लिए दो से 20 साल की कैद का दंड है, जिसके साथ जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

कच्चे तेल का भंडार बढ़ने से कीमतों पर बढ़ा दबाव, करीब 11 डॉलर प्रति बैरल की आई कमी

स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक, हालांकि दोनों को आरोपों के लिए दोषी नहीं ठहराया गया है।

नए आरोप नजीब के खिलाफ पहले से चल रहे भ्रष्टाचार के 32 मामलों में जुड़े हैं, यह सभी आरोप वनएमडीबी जांच से संबंधित हैं।

अदालत नजीब की पत्नी रोसमाह मंसूर का बयान गुरुवार शाम को दर्ज करने की योजना बना रही है। मंसूर पर भ्रष्टाचार योजना के संबंध में धन शोधन और कर चोरी के 17 मामलों में आरोप हैं। इन आरोपों के लिए रजाक पर अभियोग चल रहा है।

=>
LIVE TV