Monday , December 5 2016
Breaking News

‘शिवराज के शासनकाल में हुए सिर्फ घोटाले’

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रीभोपाल| मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का 11 वर्ष का कार्यकाल मंगलवार को पूरा होने पर विपक्षी दलों ने सवाल उठाया और इसे घोटालों का कार्यकाल बताया है। कांग्रेस, आप और माकपा ने इसे घोटालों का काल कहा है। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने मंगलवार को यहां कहा कि यह 132 घोटालों की सरकार है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान को यह बताना चाहिए कि उन्होंने बीते 11 वर्षो में पांच ऐसे कौन-से काम किए हैं, जिससे जनता का हित हुआ है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पर तीखे आरोप

यादव ने मंगलवार को कहा, “शिवराज को राज्य की सत्ता संभाले 132 माह अर्थात 11 साल पूरे हो गए हैं, और उनके शासनकाल में हर माह एक घोटाला हुआ है। इस तरह यह ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जिनके कार्यकाल में अब तक 132 घोटाले हो चुके हैं। जश्न के दौरान मुख्यमंत्री चौहान जनता को यह भी बताते कि कितने घोटाले और होंगे तो बेहतर होता।”

उन्होंने आगे कहा, “राज्य के हर वर्ग का बुरा हाल है, महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं, किसान आत्महत्या कर रहा है, रोजगार का संकट है, शिक्षा व्यवस्था चौपट है, स्वास्थ्य सेवाएं दम तोड़ रही हैं, मगर सरकार जश्न मनाने में व्यस्त है।”

यादव ने कहा, “जनता की गाढ़ी कमाई को सरकार अपना जश्न मनाने में उड़ा रही है, नोटबंदी के बाद राज्य की जनता को दो-ढाई हजार रुपये पाने के लिए घंटों और पूरे दिन-दिन बैंकों की कतारों में लगना पड़ रहा है, जिस पर राज्य सरकार का ध्यान नहीं है।”

आम आदमी पार्टी (आप) की मध्य प्रदेश इकाई के संयोजक आलोक अग्रवाल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के 11 वर्षीय कार्यकाल को कुशासन और भ्रष्टाचार का काल बताया है।

उन्होंने कहा, “पूरा प्रदेश एक ऐसे दौर से गुजर रहा है, जहां हर तरफ भ्रष्टाचार है, एक छोटे से बाबू के यहां छापे में करोड़ो रुपयों की संपत्ति मिलती है।”

उन्होंने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा, “राज्य ने शिवराज के काल में 11 बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं। यह राज्य दुष्कर्म के मामलों में अव्वल है। यहां हर रोज 12 दुष्कर्म होते हैं। युवा व छात्रों का सबसे बड़ा घोटाला व्यापमं घोटाला इसी राज्य में हुआ है। इसमें 50 से ज्यादा लोगों की जान गई है।”

उन्होंने आरोप लगाया, “राज्य भ्रष्टाचार में देश में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है, 45 प्रतिशत बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। राज्य पर एक लाख 70 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है, प्रति व्यक्ति पर कर्ज 15 हजार रुपये हो गया है। देश में सबसे ज्यादा बाल अपराधी इसी राज्य में हैं।”

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्य सचिव बादल सरोज ने कहा, “शिवराज शासनकाल में भ्रष्टाचार के कीर्तिमान स्थापित किए गए हैं। बीते 11 वर्षो में सरकार से जुड़े लोगों ने भ्रष्ट तरीके से दौलत कमाई है, अगर उसे जब्त कर लिया जाए तो राज्य को 11 वर्ष तक बजट की जरूरत नहीं होगी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

LIVE TV