स्टाफ नर्स को न्याय दिलाने के लिए एबीवीपी ने नारेबाजी करते हुए फूंका मेडिकल कॉलेज के प्रशासन का पुतला

स्टाफ नर्स को न्याय दिलाने के लिए एबीवीपी ने सोमवार को जमकर नारेबाजी करते हुए अपना विरोध जताया। जिसके तहत जहां पदाधिकारियों ने कॉलेज प्रशासन का पुतला फूंका। वहीं उन्होंने जिला प्रशासन के खिलाफ भी नारेबाजी भी की। गौरतलब है कि कम सेलरी को लेकर स्टाफ नर्स ने कॉलेज की पहली मंजिल से कूद कर जान देने का प्रयास किया था। इसके साथ ही गंभीर आरोप भी लगाए थे।

लखीमपुर खीरी जिले के के पलियाकला निवासी कल्पना श्रीवास्तव प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में स्टाफ नर्स के पद पर कार्यरत थी। कल्पना ने कम सैलरी में कोविड 19 में ड्यूटी लगाए जाने का विरोध किया था। आरोप है कि इसके बाद मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। 11 अगस्त को कल्पना ने हॉस्टल की पहली मंजिल से कूदकर जान देने का प्रयास किया था। तब से मेडिकल कॉलेज में ही उसका इलाज चल रहा है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद तब से लगातार नर्स को न्याय दिलाने के लिए विरोध प्रदर्शन कर रहा है। सोमवार को जलालाबाद इकाई के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राजन द्विवेदी के नेतृत्व में जलालाबाद मुख्य चौराहे पर मेडिकल कॉलेज प्रशासन व डीएम का पुतला फूंका। राजन द्विवेदी ने कहा कि प्राचार्य समेत तीन लोगों के खिलाफ 14 दिन पहले मुकदमा दर्ज हुआ था उनका आरोप है कि जिला प्रशासन की लापरवाही की वजह से अभी तक मामले में आगे कार्रवाई नहीं बढ़ी। इस मौके पर इस मौके पर राज मिश्रा, आदर्श जौहर, अमन द्विवेदी, शंशाक अग्निहोत्री, जितेंद्र पाल, आशीष, रिंकू, राजा, किशन शर्मा आदि मौजूद रहे। 

=>
LIVE TV