सैलरी के मामले में भारतीय सेना के चीफ अमेरिका और ब्रिटेन को भी पछाड़ देंगे

army_5720591b31151एजेंसी/ नई दिल्ली : भारत में पहली बार सेना के चीफ की सैलरी बढ़ने की उम्मीद है। यदि 7वें पे कमीशन की रेकमेंडेशन लागू हो जाती है, तो आर्मी, नेवी और एयरफोर्स तीनों के चीफ की सैलरी में अच्छी खासी बढ़ोतरी होगी। फिलहाल भारत में चीफ की सैलरी फिलहाल कैबिनेट सेक्रेटरी के बराबर है।

डिफेंस स्टडीज एंड एनालिसिस के अनुसार, 7वें पे कमीशन की रेकमेंडेशन लागू होने के बाद भारत की तीनों सेना सैलरी के मामले में अमेरिका, यूके के भी अपने काउंटरपार्टस को पछाड़ देंगे। सैलरी के असेसमेंट का बेस परचेजिंग, पावर, पैरिटी पर तय किया जाता है।

फिलहाल इनकी सैलरी 1 लाख 40 हजार 250 डॉलर यानि करीब 93 लाख 43 हजार सलाना है। यूएस में आर्मी चीफ की सैलरी 1 लाख 81 हजार 500 डॉलर यानि 1 करोड़ 20 लाख सलाना है। जब कि ब्रिटेन की चीफ की सैलरी 2 लाख 69 हजार 868 डॉलर है।

7th पे कमीशन लागू होने के बाद इंडियन आर्मी चीफ को हर साल 1 लाख 89 हजार 482 डॉलर यानि 1 करोड़ 26 लाख सलाना सैलरी मिलने लगेगी। सिविल अफसरों की सैलरी में भी खासा इजाफा होगा। बता दें कि भारत में एनुअल पर कैपिटा इनकम 5 हजार 833 डॉलर है जबकि यूएस में यह 54 हजार 630 डॉलर और यूके में 39 हजार 137 डॉलर है।

बता दें कि दुनिया भर में सैलरी बढ़ाने का बेस पीपीपी होता है यानि खरीदारी की क्षमता। मिलिट्री और उसके अधिकारियों की सैलरी व फैसिलिटी का अध्ययन करने के लिए ऑटोनॉमस इंस्टीट्यूशन है- आईडीएसए। यरक्षा मंत्रालय का थिंक टैंक है।

=>
LIVE TV