Monday , July 24 2017

चौथी महिला सूचना प्रसारण मंत्री बनीं स्मृति ईरानी, बनाने के पीछे हैं ये चार वजह

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालयनई दिल्ली। मोदी सरकार की तरफ से वेंकैया नायडू को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद खाली हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार स्मृति इरानी को सौंप दिया गया है। उनको ये पद खास रणनीति के तहत दिया गया है। इसके साथ ही स्मृति ईरानी चौथी ऐसी महिला हैं जिन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय मिला है।

वर्तमान में कपड़ा मंत्रालय का प्रभार संभाल रहीं स्मृति ईरानी अब सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का काम भी देखेंगी। वहीं, नरेंद्र सिंह तोमर को शहरी विकास मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। ये दोनों ही मंत्रालय वेंकैया नायडू के पास थे और उनके इस्तीफा देने के बाद खाली हो गए थे।

यह भी पढ़ें : सुषमा स्वराज ने POK के ‘ओसामा’ को बिना लेटर के दिया वीजा

  1. महिला सशक्तिकरण का संदेश

ये अहम जिम्मेदारी देकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार में महिला सशक्तिकरण का एक साफ संदेश दिया है। इंदिरा गांधी, सुषमा स्वराज, अंबिका सोनी के बाद स्मृति ईरानी चौथी महिला हैं जिन्हें यह महत्वपूर्ण मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं।

  1. मीडिया फ्रेंडली

पहले पार्टी के प्रवक्ता के तौर पर काम किया है। टेलीविजन चैनलों में पार्टी की तरफ से बहस में प्रतिनिधित्व करने का अच्छा अनुभव। मीडिया और उसकी कार्यप्रणाली को अच्छी तरह जानती हैं।

यह भी पढ़ें : सरकार ने किया बड़ा खुलासा : यूपी विधानसभा में मिला संदिग्‍ध पाउडर विस्‍फोटक नहीं

  1. अंतिम विस्तार से पहले बड़ा दांव

संभावना है कि राष्ट्रपति चुनाव के बाद मोदी मंत्रिमंडल का अंतिम विस्तार होगा। 2019 के चुनाव में मीडिया और सूचना प्रसारण मंत्रालय की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। सरकार की उपलब्धियों को प्रचारित करने और सकारात्मक माहौल बनाने के लिए स्मृति ईरानी खरी साबित हो सकती हैं।

  1. पीएम को अभी भी भरोसा

मानव संसाधन विकास मंत्रालय लेकर कपड़ा मंत्री बनाने से ऐसा संदेश गया कि पीएम ने उनके पर कतरे हैं लेकिन फिर से इस फैसले के बाद पीएम ने ये साफ कर दिया कि स्मृति ईरानी का उनके सरकार में अब भी अहम रोल है।

LIVE TV