सही वास्तु से आती हैं लक्ष्मी

2वास्तु शास्त्र के बारे में तो सभी जानते हैं कि घर बनाने और उसमें उचित स्थान पर विभिन्न वस्तुएं रखने से सकारात्मक ऊर्जा आती है।हमारे घर में जब धन आता है तो हम उसे एक खास जगह पर रखते हैं। कुछ लोग अपनी अलमारी के किसी गुप्त लॉकर में उसे रखना पसंद करते हैं तो कुछ घर में खास तौर से एक तिजोरी बनवाते हैं। तिजोरी को विशेष स्थान पर रखने से लक्ष्मी उसी घर में वास करने लगती है।

संभव हो तो तिजोरी को हमेशा दक्षिण या फिर दक्षिण-पश्चिम दिशा की दीवार के पास ही रखें ताकि जब भी तिजोरी खुले तो उसका मुख उत्तर दिशा की ओर ही हो। क्योंकि शास्त्रों के अनुसार उत्तर दिशा में भगवान कुबेर का वास है जो कि धन के देवता माने जाते हैं। तिजोरी के ऊपर कुछ न रखें। इसके अलावा यदि आप किसी अन्य दिशा में तिजोरी को रखेंगे तो संभव है कि इसका असर आपकी आमदनी पर होगा। लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखें कि जहां कहीं भी आप तिजोरी को रखें उसके ऊपर कोई भारी-भरकम डिब्बा न रखें। वास्तु शास्त्र की मान्यताओं के अनुसार ऐसा करने से घर की आर्थिक स्थिति पर वजन पड़ता है।

यदि आप चाहते हैं कि यही तिजोरी आपके लिए धन का खजाना बन जाए तो आप इसके रखे हुए स्थान के ठीक सामने एक शीशा लगवा दें। ऐसा करने से जब भी आप तिजोरी का दरवाजा खोलेंगे तो उसमें रखा धन सामने लगाए गए शीशे में भी दिखाई देगा। स्वाभाविक है कि ऐसा करने से वह धन दोगुना दिखाई देगा एवं वास्तु मान्यताओं के अनुसार यह तरीका सच में धन को दोगुना करने के लिए कारगर साबित होता है। जब कभी लगे कि आपके जीवन में धन से संबंधित बाधाएं आनी शुरू हो गई हैं तो अपने घर या ऑफिस की उत्तर दिशा को परख लें। आप देखेंगे कि वहां पर कोई अनचाही वस्तुएं जैसे कि कूड़ा-कबाड़ पड़ा हो, उसे फौरन वहां से हटा दें। उत्तर दिशा में बिना वजह से पड़ी चीजें आर्थिक तंगी लाती हैं। एक और बात ध्यान देने योग्य है और वो यह कि कभी भी उत्तर दिशा में सीढिय़ां ना बनवाएं। यह भी धन-सम्पत्ति के मार्ग में बाधा बनती हैं। धन पाने में प्रकृति भी आपकी काफी मदद करती है? जी हां— हम पेड़-पौधों की ही बात कर रहे हैं। यदि आप इनकी मदद से सुख एवं समृद्धि पाना चाहते हैं तो अपने घर एवं ऑफिस में मनी प्लांट लगाएं।

छोटे घरों में व्यक्ति मनी प्लांट लगाने के अलावा अन्य विकल्पों का चयन भी नहीं कर सकता, लेकिन यदि आपके पास बड़ा घर एवं अधिक जगह है तो आप बड़े पेड़-पौधे लगाएं। इन्हें घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में ही लगाएं। भूलकर भी बड़े पेड़-पौधे को घर या ऑफिस की उत्तर-पूर्व दिशा में न लगाएं। ऐसा करने से आर्थिक तंगी आती है और बाहर की ओर धन का प्रवाह होने लगता है।

धन पाने के लिए आप केवल दक्षिण-पश्चिम दिशा का ही र्पयोग करें लेकिन घर की मध्य दिशा को हमेशा खाली रखें। पहले जांच लें कि आपके घर की सही मध्य दिशा क्या है, और पता लगाने के बाद वहां रखी किसी भी प्रकार की वस्तु को हटा दें। फिर चाहे वह कोई सजावटी सामान हो या फिर बैठने लायक सोफा, कुर्सी, इत्यादि। वास्तु नियमों के अनुसार घर की मध्य दिशा हमेशा साफ होनी चाहिए।

लक्ष्मी स्वच्छता को पसंद करती हैं। यदि आप चाहते हैं कि घर में आया धन घर में ही रहे तो आपको बहुत सारे काम करने की आवश्यकता है। सबसे पहले घर में कोई कचरा एकत्रित ना होने दें, खासतौर से घर की खिड़कियां दरवाजे बिल्कुल साफ रखें। इसके अलावा घर में रखी वह चीजें जो अब काम की नहीं हैं, उन्हें बाहर निकाल दें। लेकिन यदि आप उन चीजों को काम में लाना चाहते हैं तो उनका प्रयोग करें, उन्हें ठीक करवाकर दोबारा इस्तेमाल करें लेकिन यदि आप उपयोग नहीं करना चाहते तो इन्हें जल्द से जल्द बाहर कर दें। ऐसी चीजें घर की सुख-शांति भंग करती हैं।

धन आना और धन को रोकना हर किसी के लिए महत्वपूर्ण है, लेकिन जब धन ना हो तो व्यक्ति जरूरत पडऩे पर ऋण मांगता है तो कर्जदार बन जाता है और ऐसा वक्त भी आता है जब ऋण चुकाने में भी असमर्थ हो जाता है। ऐसी परिस्थिति न आए इसके लिए भी वास्तु विज्ञान ने कुछ तरीके निकाले हैं। वास्तु नियमों के अनुसार घर या ऑफिस में कभी भी काले रंग का पेंट न करवाएं। इसके अलावा मल्टीकलर रंगों से दीवारों को रंग करवाना भी वास्तु नियमों के अंतर्गत वर्जित माना गया है।
इस बात का भी ध्यान रखें कि आप यदि पश्चिम की तरफ से सीढिय़ां बनवा रहे हैं तो उसके नीचे से आने जाने का रास्ता न रखें क्योंकि इन सीढिय़ों के नीचे आने पर कर्ज बढ़ता है। इसके अलावा पानी उत्तर दिशा में रखें और किचन में नीला रंग न कराएं, यह स्वास्थ्य की नजर से ठीक नहीं है। रसोई घर की स्थिति भी लक्ष्मी की नजर में रहती है। इसलिए रसोई घर के मामले में इस बात का ख्याल रखें कि गैस सिलिंडर और चूल्हा पूर्व में रखें लेकिन यदि इस दिशा में जगह न बन रही हो, तो पश्चिम दिशा में छोटा सा आइना लगाएं, जिसमें गैस का प्रतिबिंब दिखाई दे। क्योंकि वास्तु शास्त्र के अनुसार उत्तर या पूर्व की दीवार पर उत्तर पूर्व की ओर लगे दर्पण लाभदायक होते हैं। दर्पण के फ्रेम का रंग लाल, सिन्दूरी या मैरून नहीं होना चाहिए। दर्पण जितना हल्का तथा बड़े आकार का होगा उतना ही लाभदायक होगा। घर के दक्षिण-पश्चिम हिस्से में टॉयलेट होने पर व्यक्ति पर कर्ज का बोझ बढ़ता ही जाता है। इस प्रकार वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ सावधानियां बरतें तो लक्ष्मी आपके घर में रहेगी। (हिफी)

=>
LIVE TV