Thursday , June 22 2017

राहुल का हमला : नोटबंदी के फैसले की जांच हो

संसद के बाहरनई दिल्ली। संसद के बाहर धरने पर बैठे राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री संसद का सामाना करने से घबरा क्यों रहे हैं। वित्तमंत्री को नहीं मालूम था। इस फैसले की वजह से करोड़ों लोगों का नुकसान हुआ है। कंसर्ट में भाषण दे सकते हैं। नाच-गाने के बीच भाषण दे सकते हैं। लेकिन संसद में आने से क्यों डर रहे हैं। संसद में न आने की कोई तो वजह होगी। आखिर पीएम संसद का सामना करने से क्यों बच रहे हैं।

राहुल ने कहा कि हमारी मांग है कि प्रधानमंत्री को नोटबंदी की पूरी डिबेट में बैठना चाहिए। सभी नेताओं की बातें सुननी चाहिए। अपना जवाब देना चाहिए। राहुल ने मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि इस पूरे फैसले से घोटाले की बू आ रही है। जिस तरह से यह फैसला लिया गया है यह एक प्रश्‍न खड़ा करता है। उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम मोदी ने अपने दोस्तों और करीबियों को नोटबंदी की जानकारी पहले ही दे दी थी। उन्होंने इस मामले की जांच कराने की मांग भी की।

नोटबंदी के खिलाफ बुधवार को पूरा विपक्ष एकजुट नजर आया। संसद के बाहर 12 राजनीतिक पार्टियों के करीब 200 सासंद संसद परिसर में स्थित गांधी प्रतिमा के बाहर के प्रदर्शन कर रहे हैं। यूनाइटेड अपोजिशन फ्रंट की मीटिंग के बाद ये सांसद, संसद परिसर में पहुंचे और विरोध शुरू कर दिया। बताते चलें कि पार्टियों ने इस धरने की रणनीति सोमवार को ही बना ली थी।

विपक्ष लोकसभा और राज्यसभा में चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री के मौजूद रहने की मांग कर रहा है। इसके लिए वह नारे लगा रहा है, ‘मोदी तेरी मनमानी, आम आदमी की परेशानी’।

LIVE TV