प्रयागराज कुंभ में ‘संगम नोज’ पर नहीं करने को मिलेगा स्नान, जाने वजह

प्रयागराज में चल रहे दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक मेला कुंभ के दौरान एक दिन के लिए संगम नोज पर आम श्रद्धालुओं को स्नान से वंचित होना पड़ेगा.

प्रयागराज कुंभ में 'संगम नोज' पर नहीं करने को मिलेगा स्नान, जाने वजह

किला घाट से लेकर संगम नोज तक के स्नान घाट और अरैल एरिया के वीवीआईपी घाट से लेकर टेंट सिटी तक के घाटों पर आमजन और श्रद्धालुओं को स्नान व आगमन के लिए प्रतिबंधित भी किया जाएगा.

प्रयागराज कुंभ में 'संगम नोज' पर नहीं करने को मिलेगा स्नान, जाने वजह

इसके साथ ही अक्षयवट और पातालपुरी का भी रास्ता पूरी तरह से नो इंट्री जोन में तब्दील किया जाएगा.

यह रणनीति 24 जनवरी को ढाई हजार प्रवासी भारतीयों के मेला एरिया में आने के मद्देनजर तैयार की गई है.

आखिर क्यों सुभाष चंद्र बोस को ‘फासीवादी’ की दी गई उपाधि, क्या इसके पीछे थी कोई राजनीतिक चाल!

इन सेक्टरों का दिया गया विकल्प

प्रवासी भारतीय वाराणसी से होकर 24 जनवरी को कुंभ मेला का भ्रमण करने के लिए पहुंचेंगे.

जहां संगम नोज से लेकर अरैल तक नो इंट्री जोन किया गया है. वहीं स्नान और आवागमन के लिए श्रद्धालुओं को दूसरा विकल्प भी दिया गया है.

इसके लिए सेक्टर नम्बर पांच, छह, सात व झूंसी एरिया में स्थित गंगा नदी के सभी स्नान घाट आमजन और श्रद्धालुओं के आवागमन व स्नान के लिए सुलभ किया गया है.

=>
LIVE TV