वाह!! रे यूपी पुलिस….

एजेन्सी/  2e3d2b60-02c5-4cd7-a11e-ac88c99f6ba0-630x420बदायूं में चौंकाने वाला मामला प्रकाश में आया है जहां जिला जेल से दो सिपाही एक सजायाफ्ता कैदी जो उम्रकैद की सजा काट रहा था उसे बीते 16 मार्च को इलाज के लिए अलीगढ़ मेडिकल कालेज भेजा गया था,लेकिन वो अस्पताल पहुंचा ही नही.

इस रसूखदार कैदी का नाम है मोरपाल सिंह यादव. यह हत्या का मुल्जिम है और इनका असली परिचय है कि वह सपा के वरिष्ठ नेता और दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव के समधी हैं.

जब अभिरक्षा में तैनात सिपाहियों का ही पता नहीं चल पाया तो ढूंढ मची. इतने में कैदी खुद जेल पहुंच गया. कैदी के पास अस्पताल की डिस्चार्ज स्लिप नहीं थी तो उसे जेल प्रशासन के अंदर लेने से मना कर दिया गया.बुधवार को सुबह दोनों सिपाही कैदी को लेकर बदायूं जिला जेल पहुंचे .जेल प्रशासन ने कैदी को जेल में ले लिया.बता दे कि पूर्व प्रधान मोरपाल सिंह यादव को हत्या के मामले में कोर्ट ने बीते 6 महीने पहले उम्रकैद की सजा सुनाई गयी थी.

इस मामले में जेल प्रशासन मीडिया के सवालों से बचता नजर आया वहीं एसएसपी बदायूं सौमित्र यादव ने बताया कि इस पूरे मामलें की जांच सीओ लाइन को सौपी गई हैं. दोनो सिपहियों ने कहा लापरवाही बरती है. जांच में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कारवाही की जाएगी.

=>
LIVE TV