रेलवे ने निकाली 2 लाख नौकरियां, जानें किस जाति को मिलेगा कितना हिस्सा

भारतीय रेलवे पिछले साल 1 लाख से अधिक पदों पर भर्ती निकालने के बाद अब 2 लाख से ज्यादा पदों पर नौकरियां देने की तैयारी कर रहा है. रेल मंत्रालय ने हाल ही में इसकी जानकारी दी है, जिसमें 2 लाख 30 हजार पदों पर नौकरी देने की बात कही गई है. सरकार ने संसद में आर्थिक आधार पर जनरल वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण देने वाला प्रस्ताव पास होने के बाद इसकी घोषणा की.

रेल मंत्रालय की ओर से जारी की गई आधिकारिक जानकारी के अनुसार, भारत सरकार में आरक्षण के नियमों के आधार पर इस भर्ती में उम्मीदवारों का चयन दो चरणों में किया जाएगा. इन चरणों का टाइम और पदों की संख्या अलग अलग है.

पहला चरण- पहला चरण फरवरी-मार्च 2019 से अप्रैल-मई 2020 तक पूरा होगा. पहले चरण में 1,31,428 पद शामिल होंगे, जिनका तय प्रक्रिया के आधार पर चयन किया जाएगा.

दूसरा चरण- दूसरा चरण मई-जून, 2020 से जुलाई- अगस्त, 2021 के बीच पूरा होगा. इस चरण में 99,000 पदों पर उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा. एससी के लिए 34 हजार, एसटी के लिए 17 हजार और ओबीसी के लिए 62 हजार पद आरक्षित होंगे. वहीं इसमें आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 23 हजार पद आरक्षित होंगे.

दरअसल भारतीय रेल नई परियोजनाओं के लिए आवश्‍यक श्रमबल को पूरा करने और पूरे रेलवे नेटवर्क की समग्र दक्षता बढ़ाने के लिए अपने कार्यबल में लगातार विस्तार कर रहा है. सरकार का मानना है कि इन भर्ती अभियानों से ओवरटाइम काम करने के लंबे समय से चली रही समस्‍याएं, प्रोजेक्ट में देरी आदि दिक्कतें दूर होंगी.

पिकअप वैन के अचानक पलटने से हुआ दर्दनाक सड़क हादसा,इतनों की मौत

बता दें कि भारतीय रेलवे में कर्मचारियों के लिए स्वीकृत पद 15,06,598 हैं. इनमें 12,23,622 कर्मचारी कार्यरत हैं और बाकी 2,82,976 पद खाली हैं. हालांकि 1,51,548 पदों के लिए भर्ती चल रही है, लेकिन 1,31,428 पद अभी भी खाली हैं.

=>
LIVE TV