रेप पर अलका ने दिया विवादित बयान, कहा- पुरुष के प्राइवेट पार्ट पर हमला करें लड़कियां

रेपचंडीगढ़। चंडीगढ़ में एक नाबालिग से स्वतंत्रता दिवस के दिन रेप के मामले पर आम आदमी पार्टी की नेता अलका लांबा ने जो बयान दिया है, उस पर विवाद हो सकता है। दरअसल, फेसबुक पोस्ट पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए अलका ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस मानकर घर लौट रही बच्ची को हवस का शिकार बनाया गया। उन्होंने कहा कि अपनी बच्चियों का धारदार हथियार दीजिए ताकि वह हमला करने वाले पुरुष के लिंग पर हमला कर सकें।

अलका ने कहा कि आज आज़ादी मनाने स्कूल गई हमारी बेटी को हवस का शिकार बनाया गया। आखिर बेटी कैसे बचायें। 6 महीनों में सुनवाई पूरी हो, जुर्म साबित होते ही हैवान का लिंग काट कर हमेशा के लिये जेल में सड़ने के लिए छोड़ देना चाहिए। हर पिता को अपनी बेटी को तेज धारदार हथियार देने और चलाने सिखाने चाहिए, बचाव में क़त्ल भी हो जाता है तो क़ानून के मुताबिक वह क़त्ल नहीं माना जायेगा, सुरक्षित और जिन्दा रहने के लिए अब यह सब करना जरुरी है।

मामले पर अपना पक्ष रखते हुए अलका लांबा ने कहा कि लगातार बच्चियों को नोंचा जा रहा है, कानून की कमी नहीं है, निर्भया से लेकर दूसरी सरकार आ गई लेकिन हालात में कोई बदलाव नहीं आया। उन्होंने कहा कि मतलब साफ है कि कानून नाकाफी है, व्यवस्था निकम्मी और नपुंसक हो चुकी है। हर पिता को अपनी बेटी की हिफाजत के लिए धारदार हथियार देकर, उस हथियार को चलाने की ट्रेनिंग दे। अगर कोई गलत हरकत करने की कोशिश करे तो पुरूष के लिंग पर हमला करना सिखाए।

 

=>
LIVE TV