रिसर्च का दावा हो सकता है Birthday जानलेवा!!

एजेंसी/l_Birthday-Blues-1460447185हैडिंग पढ़कर हैरान न हों। शोध में सामने आया है कि बर्थ डे ब्लूज के चलते दिल का दौरा, सदमा, कैंसर और सुसाइड जैसे मामले आए हैं। जानिए क्या है ये बर्थ डे ब्लूज…

बर्थडे ब्लूज का अर्थ है कि किसी को जन्मदिन के दिन दुख और उदासी होना। इसे बर्थ डे डिप्रेशन भी कहा जाता है। बर्थ डे के दिन नेगेटिव थॉट मौत का बड़ा कारण है। इस बारे में किए गए शोध में करीब बीस लाख लोगों को शामिल किया गया। शोधकर्ताओं ने पाया कि बर्थडे ब्लूज के चलते लोगों की दिल के दौरों, सदमों, कैंसर और आत्महत्या से मरने के मामलों में वृद्धि होती है।

एक रिपोर्ट के अनुसार औसतन 60 साल की उम्र से ज्यादा के लोगों में से 14 प्रतिशत लोगों की अपने जन्मदिन के दिन मरने की संभावना ज्यादा होती है। जन्मदिन का तनाव दिल के दौरों की संभावना बढ़ाता है। पुरुष और महिलाओं दोनों में ही बर्थडे पर हार्ट अटैक पडऩे में 18.6 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई। इसके अलावा कैंसर के मामलों में भी 10.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखने को मिली। ज्यूरिक विश्वविद्यालय में मनोचिकित्सा में शोध कर रहे एक डॉक्टर का कहना है कि बूढ़े लोग बर्थ डे पर ज्यादा तनावग्रस्त होते हैं।

यह भी एक कारण है कि जन्मदिन के दिन ही मरने की संभावना उम्र बढऩे के साथ बढ़ती है। इस अध्ययन का समर्थन कनाडा के एक अस्पताल के आंकड़े करते हैं। ये आंकड़े इस बात की पुष्टि करते हैं कि आघात लगने की संभावना दूसरे दिनों के बजाय जन्मदिन पर ज्यादा होती है।

गौरतलब है कि जन्मदिन के दिन मरने वालों में विलियम शेक्सपीयर और इंग्रिड बर्गमैन का नाम प्रमुख है। इंग्रिड की मौत 67वें जन्मदिन पर ब्रेस्ट कैंसर की वजह से हुई थी और शेक्सपीयर की मौत 52वें जन्मदिन पर अज्ञात कारणों से हुई थी। देखने में आता है कि बहुत से लोग जन्मदिन के दिन सुसाइड करते हैं।

=>
LIVE TV