राजधानी लखनऊ में दिल दहलाने वाली वारदात कमलेश तिवारी की हत्या का हुआ खुलासा , जाने पूरा मामला…

उत्तर परदेश में एक के बाद एक अपराध होते जा रहे हैं. लेकिन सरकार इस पर कोई लगाम नहीं लगा पा रही हैं. देखा जाए तो साल 2019 ,में दो ऐसी दर्दनाक घटना सामने आई हैं जिसने राजधानी को हिला कर रख दिया हैं.

बतादें की 19 अक्टूबर को  कमलेश तिवारी की हत्या के बाद राजधानी लखनऊ में हंगामा मच गया हैं. वहीं इस मामले की पुलिस ने पूरी तरह से जांच पड़ताल की वहीं 24 घंटे के अन्दर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया हैं.

गाजियाबाद में आतंकी खतरे की आहट से हाई अलर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था

खबरों के मुताबिक दोनों हत्यारे लखनऊ के ही नाका थाना क्षेत्र के खालसा इन होटल में ठहरे थे. जहां से पुलिस ने भगवा कपड़े और बैग बरामद किए थे. वहीं बरामद कपड़ों पर खून भी लगा हुआ है.

लालबाग खालसा होटल में दो संदिग्ध व्यक्ति ठहरे हुए थे. पुलिस को जैसे ही सूचना मिली फील्ड युनिट के साथ पुलिस की टीम वहां पहुंच गई. कमरे की जांच करने पर बैक के साथ कपड़े भी बरामद किए गए.

मिली जानकारी के मुताबिक होटल के रजिस्टर में दर्ज नामों के मुताबिक इस होटल में शेख असफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद ठहरे थे. होटल के कमरे के अंदर बनी अलमारी में बैक, लोअर, लाल रंग का कुर्ता पड़ा है. बेड़ पर भगवा रंग का कुर्ता पड़ा है.

तौलिया खोलने पर भी खून के धब्बे दिखे. बैग में जिओ फोन पैकेट भी मिला है. साथ ही सेविंग किट, चश्मे का डिब्बा रखा मिला. कानूनी कार्रवाई के बाद होटल का कमरा सील कर दिया गया है.

कमलेश तिवारी मर्डर केस को क्रैक करने के लिए पुलिस की 10 टीमें लगाई गई है. गुजरात भेजी गई टीम को लखनऊ के एसपी क्राइम लीड  कर रहे हैं.यूपी पुलिस और गुजरात एटीएस गुजरात के हवाई अड्डों से दिल्ली और लखनऊ की फ्लाइट के यात्रियों के बारे में भी पूछताछ की है.

=>
LIVE TV