मोस्ट वांटेड आतंकी मौलवी ज़हरान हाशिम था श्रीलंका हमले का मास्टरमाइंड, डॉ. जाकिर नाइक से था प्रेरित!

श्रीलंका में हुए आत्मघाती धमाकों का मास्टर माइंड कोई और नहीं बल्कि नेशनल तौहीद जमात (NTJ) संगठन का आतंकी मौलवी ज़हरान हाशिम था. एक वेबसाइट के हवाले से ख़बर है कि हाशिम ने शांगरी ला होटल में आत्मघाती हमला किया और खुद को उड़ा लिया. चरमपंथी मौलवी ज़हरान हाशिम एक लेक्चरर और वक्ता था. जानकारी मिली है कि वह डॉ. जाकिर नाइक से प्रेरित था, जो इस वक्त भारत में मोस्ट वॉन्टेड है.

येरुशलम पोस्ट के अनुसार, चरमपंथी मौलवी ज़हरान हाशिम एक इमाम के तौर पर NTJ के साथ काम करता था. सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक हाशिम इसी महीने की शुरुआत में कोलंबो स्थित भारतीय उच्चायोग पर हमला करना चाहता था, लेकिन हमला नाकाम कर दिया गया था.

इमाम मौलवी ज़हरान हाशिम नस्लवाद और इस्लामी वर्चस्व की विचारधारा को मानने वाला था. उसने यूट्यूब पर कई वीडियो भी पोस्ट किए थे, जिसमें उसे उकसाने वाली बातों का प्रचार प्रसार करते देखा जा सकता था. अपने एक वीडियो में कट्टरपंथी मौलवी ज़हरान हाशिम कहता दिख रहा है कि ज़ाकिर नाइक के लिए श्रीलंकाई मुसलमान क्या कर सकते हैं?

भारत में जाकिर नाइक का नाम जाना-पहचाना है. हालांकि अब वो भारतीय इस्लामिक उपदेशक मलेशिया के सबसे विवादास्पद स्थायी निवासियों में से एक है. अपने व्याख्यानों और संदेशों से नफरत फैलाने के लिए बदनाम जाकिर नाइक भारत में मोस्ट वॉन्टेड है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या श्रीलंका के आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड जाकिर नाइक से प्रेरित था?

पीएम मोदी को हराने के लिए तंत्र-मंत्र का सहारा ले रही कांग्रेस…

पिछले महीने, भारत के प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने विवादास्पद मुस्लिम उपदेशक जाकिर नाइक पर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के नाम पर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगाया था. जिसे वो मुस्लिम समुदाय के सामाजिक कल्याण के लिए चलाता था. आरोप है कि उसी के लिए संदिग्ध दान को व्यवस्थित करने और संपत्ति खरीदने के लिए इसने अपनी आय को डायवर्ट किया था. ज़ाकिर नाइक ने कथित रूप से 113 मिलियन की संपत्ति डायवर्ट की थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, इन संपत्तियों में भारत के मुंबई और पुणे शहरों में मौजूद कम से कम 20 फ्लैट भी शामिल थे. ईडी ने 21 मार्च को जाकिर के सहयोगी ज्वेलर अब्दुल कादिर नजमुद्दीन शतक को गिरफ्तार किया था, जो कथित तौर पर यूएई से संदिग्ध मूल फंड को ट्रांसफर करने में जाकिर नाइक की मदद कर रहा था.

भारत में मोस्ट वॉन्टेड जाकिर नाइक की नागरिकता भी रद्द कर दी गई थी. उसे मलेशिया की पूर्व नजीब सरकार ने स्थायी निवास की अनुमति दी थी. इसके बाद जब प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद की नई सरकार ने सत्ता संभाली, तो प्रधानमंत्री ने कहा कि मलेशिया जाकिर को तब तक निर्वासित नहीं करेगा, जब तक वह देश में कोई समस्या पैदा नहीं कर रहा है.

बताते चलें कि डॉ. जाकिर नाइक पर कनाडा और ब्रिटेन में पहले ही प्रतिबंधित हैं. उसे 1 जुलाई 2016 को ढाका के एक रेस्तरां में 22 लोगों की हत्या करने वाले आतंकवादियों को प्रेरित करने वाला मुस्लिम उपदेशक भी माना जाता है.

2009 में YouTube पर अपलोड किए गए एक वीडियो में किसी एक दर्शक ने जाकिर से पूछा था कि क्या आत्मघाती हमला कभी भी सही हो सकता है. इस पर जाकिर ने विवादास्पद जवाब देते हुए कहा था कि अगर हालात की ज़रूरत और वक्त की मांग हो तो आत्मघाती बम विस्फोट हराम नहीं हो सकता है. उसने उस वीडियों में फिलिस्तीन का जिक्र भी किया था.

एक बार जाकिर नाइक ने दावा किया था कि अल-कायदा नेता ओसामा बिन लादेन आतंकवादी नहीं था. उसने कहा था कि अगर ओसामा-बिन-लादेन इस्लाम के दुश्मनों से लड़ रहा है, तो मैं उस साथ हूं. अगर वह सबसे पड़े आतंकी अमेरिका को आतंकित कर रहा है तो मैं उसके साथ हूं और ऐसे काम के लिए हर मुसलमान को आतंकवादी होना चाहिए. अगर वह आतंकवादी को आतंकित कर रहा है, तो वह इस्लाम का पालन कर रहा है.

 

डॉ. जाकिर नाइक ने एक बार सेक्स स्लेव को रखना उचित ठहराया था. उसने दावा करते हुए कहा था कि इस्लाम में इस तरह की प्रथा की अनुमति है. 2010 में जाकिर ने कहा था कि कुरान में बहुत सी ऐसी आयतें हैं, जो कहती हैं कि आप अपनी पत्नी के साथ और अन्य के साथ भी सेक्स कर सकते हैं. दिलचस्प बात यह है कि, जाकिर नाइक ने श्रीलंका के आतंकी हमलों की निंदा की है. ताकि उसे NTJ से ना जोड़ दिया जाए.

 

=>
LIVE TV