Thursday , April 27 2017

अमेरिका में मस्जिदों को मिले धमकी भरे पत्र, कहा- शैतान के बच्चों

मस्जिदों को धमकी भरे पत्रकैलिफोर्निया। अमेरिका के कैलिफोर्निया में कई मस्जिदों को धमकी भरे पत्र मिले हैं। इन पत्रों में मुसलमानों के नरसंहार की बात की गई है। और नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के तारीफों के पुल बांधे गए हैं।

इस घटना के बाद से काउंसिल ऑन अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशंस (सीएआईआर) ने स्थानीय मस्जिदों के लिए पुलिस सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है। मस्जिदों को पत्र भेजने का यह सिलसिला हाल ही में कुछ दिनों से शुरू हुआ है, जिसके तहत कैलिफोर्निया की कई मस्जिदों को ये पत्र भेजे गए हैं।

सीएआईआर की लॉस एंजिलिस शाखा ने एक बयान में कहा कि ‘इस्लामिक सेंटर ऑफ लांग बीच’ और ‘इस्लामिक सेंटर ऑफ क्लेयरमांट’ को पत्र भेजे गए हैं।

खबर के मुताबिक, इसी प्रकार के पत्र सैन जोस स्थित ‘एवरग्रीन इस्लामिक सेंटर’ को भी भेजा गया है। मीडिया में रिर्पोट की माने तो, हाथ से लिखे इन पत्रों में मुस्लिम समुदाय को ‘शैतान के बच्चों’ को संबोधित किया गया है और उन्‍हें ‘नीच और गंदा’ करार दिया गया है। सीएआईआर की लॉस एंजिलिस इकाई के अनुसार पत्र में कहा गया है, ‘‘तुम लोगों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है।

एफबीआई के नए आंकड़ों के अनुसार साल 2015 में मुस्लिम विरोधी घटनाओं में 67 फीसदी का इजाफा हुआ। पिछले साल मुसलमानों के खिलाफ पक्षपात के 257 मामले सामने आए थे, जबकि 2014 में ऐसे मामलों की संख्या 154 थी।

मालूम हो कि  डोनाल्‍ड ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान मुसलमानों को अमेरिका में घुसने से रोकने का वादा किया था। हालांकि बाद में उन्‍होंने इसे अपने साइट से हटा दिया था। ट्रंप के जीतने के बाद अमेरिका में हिजाब पहनने पर महिलाओं से बदसलूकी दो खबरें आ चुकी हैं। पहली घटना मिनेसोटा के कून रेपिड्स के नॉर्थडले मिडल स्कूल की है। यहां पर एक सहपाठी ने एक मुस्लिम छात्रा का हिजाब कथित तौर पर फाड़ दिया गया और उसके बाल नोच लिए। इसी तरह से न्यू मैक्सिको के एक स्टोर में हिजाब पहनी एक महिला को एक अन्य ग्राहक ने आतंकवादी कहकर संबोधित किया और हिजाब पहनी महिला को देश से बाहर चले जाने को कहा था।

LIVE TV