मरीजों को मिली परेशानी से निजात, सिविल अस्पताल में फिर शुरू हुआ ये काम

रिपोर्टर – अवनीश कुमार

लखनऊ – लखनऊ के डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय में पिछले कई महीनों से सिटी स्कैन मशीन खराब होने से मरीजों का हाल बेहाल था।मरीजों को दूसरे निजी अस्पताल में जांच करवाने के लिए जाना पड़ता था, लेकिन आज उन्हें इस दिक्कत से छुटकारा मिल गया है।

चिकित्सा स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह ने चिकित्सालय में हाईटेक सुविधाओं से लैस नई सिटी स्कैन मशीन का शुभारंभ किया है। बता दें केजीएमयू और बलरामपुर के बाद चिकित्सालय में मशीन का शुभारंभ होने से मरीजों के लोड को संभालना आसान होगा।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि तमाम अस्पतालों में लगातार हाईटेक सुविधाओं से लैस मशीनें लगाने के निर्देश दिए गए हैं। इसी क्रम में हाईटेक और ज्यादा लोड उठाने वाली सीटी स्कैन मशीन की जो सुविधा है वह भी अस्पतालों में शुरू की जा रही है। सिविल अस्पताल में जो मशीन लगाई गई है।

वह 50 स्लाइड की है और पीपीपी मॉडल पर है। जय प्रताप सिंह ने बताया कि इस मशीन की मदद से मरीजों को आसानी से उपचार दिया जाएगा और मरीजों का लोड भी कम करने में आसानी होगी। साथ ही सुविधा का पूरा भार सरकार उठा रही है। वहीं हाल ही में सरकारी अस्पतालों में कुछ दवाइयों पर लगाई गई रोक के बारे में उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉरपोरेशन के द्वारा टेंडर से दवाइयां उपलब्ध कराई जा रहीं थी।

सहायक अध्यापक भर्तीः सैकड़ों अभ्यर्थियों ने बेसिक शिक्षा निदेशालय का किया घेराव

दवाइयों की जांच में उनके मानक में कुछ गड़बड़ी पाई गई है जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से मरीजों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया हो इसपर किसी भी हाल में कोई लापरवाही नहीं बरती जा रही है।

=>
LIVE TV