बिहार के बाद देश के दायित्व की तैयारी

nitish-kumar_567070cd6565eएजेन्सी/पटना : जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने 4थी बार पार्टी के प्रमुख बनने से मनाही कर दी है। दरअसल पहले इस बात की जानकारियां सामने आ रही थीं कि शरद यादव इस बार राष्ट्रीय अध्यक्ष नहीं बनेंगे। पार्टी सूत्रों से यह जानकारी सही निकली है। यह जानकारी सामने आई है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जनता दल यूनाईटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनेंगे। सबसे बड़ी बात यह है कि नीतीश को पार्टी का प्रमुख पद क्यों नहीं दिया जा रहा है? वास्तव में लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय स्तर पर मजबूत पार्टी के तौर पर उपस्थिति दर्ज करवाने को लेकर नीतीश कुमार जनता दल यूनाईटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हो सकते हैं। संघीय स्तर पर पार्टी तीसरा मोर्चा गठित करने की तैयारी में है। माना जा रहा है कि नीतिश कुमार तीसरे मोर्चे के प्रचार का चेहरा हो सकते हैं और आगामी समय में उन्हें प्रमुख कैंडिडेट भी बनाया जा सकता है। ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी से उनकी सीधी टक्कर हो सकती है। पार्टी में सर्वोच्च पद मिलने से मोर्चे में उन्हें ऊंचा स्थान मिलने की पूरी संभावना है। जनता दल यूनाईटेड के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद केसी त्यागी द्वारा कहा गया कि शरद यादव तीन टर्म से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। 4थी बार वे राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ने हेतु पार्टी संविधान में संशोधन नहीं करना चाहते हैं। त्यागी द्वारा कहा गया कि 10 अप्रैल को दिल्ली में पार्टी पदाधिकारियों की बैठक भी आयोजित की जाएगी। उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर चर्चाऐं जोरों पर है। दरअसल लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए जनता दल के राष्ट्रीय प्रमुख के तौर पर नीतीश कुमार की पदस्थापना की जाएगी। जिससे अन्य दलों को मिलाकर एक तीसरे मोर्चे का गठन किया जा सके।

=>
LIVE TV