फिरोजाबाद में जमीन के विवाद में मामला सुलझाने पहुंची पुलिस की टीम पर बदमाशों ने बोला हमला

उत्तर प्रदेश में पुलिस के इकबाल को लगातार चुनौती मिल रही है। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू कांड को अभी लम्बा समय भी नहीं बीता है कि गुरुवार को सुहागनगरी फिरोजाबाद में बदमाशों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। इस हमले में फायरिंग व पथराव में आठ लोग घायल है, इनमें छह पुलिसकर्मी भी हैं। 

फिरोजाबाद में गुरुवार को जमीन के विवाद में मामला सुलझाने पहुंची पुलिस की टीम पर बदमाशों ने हमला बोल दिया। पथराव में पुलिस की गाड़ी तोडऩे के साथ बदमाशों ने फायरिंग भी कर दी। पथराव व फायरिंग में छह सिपाही घायल हैं। पुलिस की टीम को फायरिंग करते हुए वहां से भागने को मजबूर होना पड़ा। इससे तो लगने लगा कि उत्तर प्रदेश में अब बदमाशों में पुलिस का खौफ नहीं है।

फिरोजाबाद में आज जमीनी विवाद में बदमाशों ने पुलिस टीम पर हमला बोलने के बाद गाड़ी में तोडफ़ोड़ की। इस दौरान फायरिंग तथा पथराव में छह पुलिसकर्मी घायल हैं। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज किया है।

फिरोजाबाद के दक्षिण थाना क्षेत्र के पैमेश्वर गेट में रमाकांत उपाध्याय और नरेश बघेल के बीच जमीन का विवाद चल रहा है। गुरुवार दोपहर एक बजे विवाद की सूचना पर एसआई प्रदीप यादव फोर्स के साथ पहुंचे। इसी बीच एक पक्ष ने एसआई से अभद्रता और हाथापाई शुरू कर दी। इसके बाद पथराव शुरू कर दिया। पथराव में पुलिस की गाड़ी के शीशा टूट गया। मामला बढ़ता देख दारोगा ने हवाई फायरिंग कर लोगों को खदेड़ा और थाने पर सूचना दी। इसके बाद इंस्पेक्टर दक्षिण श्याम सिंह और उत्तर थाने का फोर्स मौके पर पहुंचा और पांच लोगों को हिरासत में ले लिया। इंस्पेक्टर का कहना है कि बघेल पक्ष के लोगों दरोगा से अभद्रता और फायरिंग की। दरोगा की ओर से फायरिंग नहीं की गई। आरोपितों पर कार्ररवाई की जा रही है। वहीं दूसरे पक्ष के रमाकांत उपाध्याय और उनके भाई को चोटें आई हैं। यह रमाकांत उपाध्याय आरएसएस के पदाधिकारी भी हैं।

=>
LIVE TV